HEALTHJharkhandKoderma

कोडरमा सदर अस्पताल में मना विश्व कैंसर दिवस

Koderma : गुरुवार को सदर अस्पताल सभागार, कोडरमा में विश्व कैंसर दिवस मनाया गया. इस दौरान सिविल सर्जन डॉ अभय भूषण प्रसाद ने कहा कि कैंसर के कारणों व जोखिम कारकों से बचकर काफी हद तक कैंसर की रोकथाम की जा सकती है. कैंसर का उपचार करने के लिए कई इलाज प्रक्रियाएं की जा सकती हैं, जिनमें मुख्य रूप से कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी और कई सर्जिकल प्रक्रियाएं शामिल हैं. यदि कैंसर का पता शुरुआती चरणों में लगा लिया गया है, अर्थात् कैंसर गंभीर नहीं हो पाया है, तो इलाज की मदद से इसे पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- सीआरपीएफ जवानों समेत 802 लोगों को लगी वैक्सीन

advt

कई रोगों का समूह है कैंसर : डॉ रमण कुमार

जिला कुष्ठ निवारण पदाधिकारी सह जिला नोडल पदाधिकारी एनसीडी सेल के डॉ रमण कुमार ने बताया कि कैंसर कई रोगों का एक समूह है, जिसमें कोशिकाएं असाधारण रूप से बढ़ने लग जाती हैं. ये कोशिकाएं बढ़कर ट्यूमर का रूप ले लेती हैं, जो असाधारण रूप से बढ़ी हुई चर्बी की एक गांठ होती है. कैंसर शरीर के किसी भी हिस्से या अंग में मौजूद कोशिकाओं को प्रभावित करता है. इसमें प्रभावित कोशिकाएं विभाजित होती रहती हैं, इसके परिणामस्वरूप ट्यूमर बढ़ने लगता है या कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है.

मरीजों की जांच भी हुई

दंत चिकित्सक डॉ नीतू सिन्हा ने कहा कि कैंसर के स्तर यह बताते हैं कि इसका इलाज कैसे किया जा सकता है, साथ ही ठीक होने की कितनी संभावना रहती है. दंत चिकित्सक डॉ शरद कुमार ने अस्पताल में इलाज को आये लोगों की मुंह के कैंसर संबंधित जांच भी की.

इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ अभय भूषण प्रसाद, उपाधीक्षक डॉ रंजन कुमार, जिला कुष्ठ निवारण सह नोडल पदाधिकारी एनसीडी सेल डॉ रमण कुमार, डीपीएम महेश कुमार, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आशीष कुमार, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शरद कुमार, डॉ नीतू सिन्हा, डीयूएचएम विनीत अग्निहोत्री, सिद्धांत ओहदार, गणेश कुमार दास, हिमांशु कुमार, प्रदीप कुमार, शंभू कुमार, थेओदोर सुरीन, मुकेश राणा, अजीत कुमार, अरुण कुमार एवं अस्पताल के सभी स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें- Jharkhand में प्राइवेट स्कूलों की फीस तय करने के लिए हर जिले में कमिटी, DC होंगे अध्यक्ष

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: