JharkhandRanchi

आवास योजना, पंचायती राज और जेएसएलपीएस के कर्मी संभालेंगे मनरेगा की कमान

विज्ञापन

Ranchi: राज्य में मनरेगाकर्मियों की हड़ताल 27 जुलाई से जारी है. मनरेगा योजनाओं पर असर न पड़े इसके लिए सरकार ने एक और पहल की है. अब प्रधानमंत्री आवास योजना,  पंचायती राज और जेएसएलपीएस कर्मियों को योजना के संचालन में लगाया जायेगा. ग्रामीण विकास सचिव आराधना पटनायक ने मनरेगा में पहले की तरह मानव दिवस सृजित करने का टारगेट भी सभी डीडीसी और बीडीओ को गुरुवार को दिया. साथ ही योजनाओं में प्रवासियों को रोजगार दिये जाने पर जोर देने को भी कहा है.

इसे भी पढ़ें – दूसरे राज्यों से झारखंड आनेवाले लोगों के होम क्वारंटाइन के लिए जारी किया गया दिशा-निर्देश, जानिये क्या होंगे नियम

advt

लगातार खड़ी हो रही है चुनौती

मनरेगाकर्मियों की हड़ताल से मनरेगा योजनाओं के संचालन में लगातार परेशानी खड़ी हो रही है. हड़ताल को चार दिन हो चुके हैं. विभाग का दावा है कि 60 फीसदी से अधिक मनरेगाकर्मी हड़ताल से बाहर हैं. पर इस दावे पर भरोसा नहीं बन पा रहा है. रोजगार की उपब्धता में गिरावट दिख रही है. जानकारी के अनुसार गुरुवार को 2 लाख 70 श्रमिकों को मनरेगा योजना में काम मिला. बुधवार को 2 लाख 71 हजार 250 मजदूरों को काम मिल सका था. यानी श्रमिकों की संख्या आंशिक रूप से घटी है. ऐसे में विभागीय पदाधिकारियों को लगातार निर्देश दिये जा रहे हैं. जारी योजनाओं के साथ-साथ लंबित योजनाओं को समय रहते पूरा करने की चुनौती बनी हुई है. हालांकि डीसी और डीडीसी अपनी ओर से इस पर पूरा दमखम दिखाने में लगे भी हुए हैं.

इसे भी पढ़ें – राज्य में दस डीटीओ की हुई ट्रांसफर-पोस्टिंग, प्रवीण कुमार प्रकाश बने रांची डीटीओ

बीडीओ को विशेष निर्देश

सभी बीडीओ (प्रखंड विकास पदाधिकारी) को विशेष निर्देश जारी किये गये हैं. उन्हें मस्टररोल को एमआइएस में पूरा कराने को कहा गया है. मनरेगाकर्मियों की हड़ताल शुरू होने से पहले की स्थिति को बहाल करने का भी टास्क मिला है. किसी भी हाल में मानव दिवस कम न हो, इसे तय करने की भी जवाबदेही है. बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत समय से वृक्षारोपण का कार्य को भी पूरा करने को कहा गया है. मनरेगा योजना संचालन में किसी की तरफ से समस्या खड़ी किये जाने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया है.

adv

इसे भी पढ़ें – अगले तीन दिनों में की जायेगी शुगर, बीपी व अन्य गंभीर रोगों से पीड़ित 36 हजार मरीजों की कोरोना जांच

advt
Advertisement

5 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close