न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देश के विकास में पुरुषाें के साथ-साथ महिलाओं का भी योगदान : अमर बाउरी

सरनेम गांधी रखने से कोई बापू का उत्तराधिकारी नहीं बन जाता

22

Dhanbad : खादी ग्राम उद्योग और धनबाद नगर निगम ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन किया गया. सिलाई प्रशिक्षण केंद्र के उद्घाटन मंत्री अमर बाउरी,  मेयर चंद शेखर अग्रवाल और बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने किया. मंत्री बाउरी ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आम तौर पर हमारे समाज में पुरुष वर्ग काम करके कमाते हैं और उसमें पांच दस परिवार के सदस्यों का गुजारा होता है.

लेकिन महिलाएं भी स्वरोजगार पाकर कमाना प्रारंभ कर देंगी तो परिवार की वह तमाम जरूरतें पूरी हो सकती हैं. जिसके लिए उन्हें सोंचना पड़ता है. मंत्री ने कहा कि देश के विकास में पुरुष के साथ साथ महिलाओं का भी योगदान सुनिश्चित हो सकता है. बशर्ते महिलाएं भी रोजगार और स्वरोजगार क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन जाए. आज समय की मांग है कि आधी आबादी को भी सम्‍मानजनक दर्जा मिले. ताकि वह भी हमारे साथ विकास में सहभागी बन सके.

मंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना

कार्यक्रम के दौरान मंत्री अमर बाउरी ने गांधी परिवार पर भी जमकर निशाना साधा. कहा कि सिर्फ सरनेम गांधी रख लेने से कोई बापू का उत्तराधिकारी नहीं बन जाता. बल्कि उन के उसूलों को, उनके किए गए अच्छे कार्यों को निरंतर आगे बढ़ाने वाला व्यक्ति ही उनका असली उत्तराधिकारी बन सकता है. वह कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं. चाहे स्वच्छता अभियान हो या खादी को बढ़ावा देने का कार्य सभी कार्यों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार आगे बढ़ा रही है. ऐसे में वो लोग जो बापू का उत्तराधिकारी खुद को बताते हैं, उन्हें इस पर पुनर्विचार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि चुनाव का समय है, अब तो और भी ज्यादा लोग बापू का अधिकारी बनने का दिखावा करेंगे.

silk_park

 ग्रुप में 14 हज़ार 500 महिलाएं शामिल हुईं   

मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने कहा कि अब तक 14 हज़ार 500 महिलाओं ने सेल्फ हेल्प ग्रुप के माध्यम से स्वरोजगार के लिए आगे कदम बढ़ाया है. कुछ महिलाओं को लाह का प्रशिक्षण देकर चूड़ी बनाने का काम मिला है, तो कुछ महिलाओं ने सेनेटरी नैपकिन बनाने का कार्य प्रारंभ किया है. इसी क्रम में अब महिलाएं सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण लेकर सफलता की नयी इबारत लिखेंगी. जिससे धनबाद नगर निगम का ही नहीं बल्कि पूरे झारखंड में एसएचजी की महिलाओं का नाम रोशन होगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: