Court NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह कोर्ट में महिला आयोग और विधिक सेवा प्राधिकार ने किया जागरुकता शिविर का आयोजन

Giridih: गिरिडीह व्यवहार न्यायालय में शनिवार को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार और महिला आयोग के संयुक्त तत्वावधान में कानूनी जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया. शिविर की शुरुआत प्रधान जिला एंव सत्र न्यायाधीश वीणा मिश्रा, सीजेएम मिथिलेश सिंह, विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव संदीप कुमार बर्तम ने दीप जलाकर की. इस दौरान शिविर में न्यायिक अधिकारियों के साथ कई शिक्षिकाएं, सहिया, सखी मंडल शामिल हुई.

मौके पर शिविर को संबोधित करते हुए प्रधान जिला एंव सत्र न्यायधीश वीणा मिश्रा ने कहा कि हर महिलाओं को कानून में अधिकार हासिल है.

advt

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS : बिहार हो जाएगा मालामाल, जानें किस जिले में मिला देश का सबसे बड़ा GOLD भंडार

सही नौकरी पाने से लेकर उचित वेतन और संस्थान में सम्मान मिलने का अधिकार कानून के दायरे में है. इसके बाद भी महिलाएं उपेक्षित होती है तो वैसी महिलाओं को अपने अधिकार के लिए लड़ाई लड़नी चाहिए.

कहा कि न्यायलय में ऐसी महिलाओं के लिए दरवाजे हमेशा खुले हुए है. जो अपने अधिकार के लिए आती है. उन्हें उनका अधिकार दिलाने में न्यायलय हमेशा तत्पर है.

इसे भी पढ़ें:चलती ट्रेन में सवार होने के चक्कर में महिला गिरी, सुरक्षाकर्मियों ने बचाई जान, देखें VIDEO

मौके पर सीजेएम मिथिलेश सिंह ने कहा कि आज का दौर नारी सशक्तीरण का ही है. फिर हर महिला को उनका अधिकार दिलाना न्यायालय की जिम्मेवारी है. तो न्यायलय इसे गंभीरता से भी लेता है. इस बीच शिविर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव संदीप कुमार बर्तम ने भी संबोधित किया.

शिविर में पैनल की अधिवक्ता सुनीता शर्मा, मीरा कुमारी भी मौजूद थी. शिविर में शिक्षिकाओं समेत सहिया और सखी मंडल की महिलाएं भी मौजूद थीं.

इसे भी पढ़ें:कांची नदी पर धंसे पुल के कारणों की जांच रिपोर्ट अब तक नहीं सौंपी गयी सरकार को

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: