न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महिला मरीज ने डॉक्‍टर पर लगाया छेड़खानी का आरोप, प्राथमिकी दर्ज, फरार

जांच के दौरान डॉक्‍टर बना रहा था महिला का वीडियो

656

Sahibganj: साहेबगंज सदर अस्पताल के डॉ गुंजन गौरव पर एक महिला मरीज ने छेड़खानी का आरोप लगाया है. इस मामले पर जिरवाबाड़ी ओपी थाना में महिला ने डॉक्‍टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है. थाने में दर्ज प्राथमिकी में महिला ने डॉक्‍टर पर गंभीर आरोप लगाये हैं. महिला ने कहा है कि डॉक्टर जांच के दौरान प्राइवेट पार्ट के साथ छेड़छाड़ कर वीडियो बना रहा था.  मामला सामने आने के बाद वह कैंपस से फरार हो गया.

हंगामे के बाद डॉक्‍टर फरार

महिला ने कहा है कि सुबह चार बजे के करीब पेट दर्द होने पर उसके पति अस्‍पताल लेकर पहुंचे. यहां ड्यूटी में मौजूद डॉ गुंजन गौरव ने जांच की और 2 इंजेक्‍शन लगाये और सुबह में जांच करवा कर ही चले जाने की बात कही. सुबह करीब 7 बजकर 45 मिनट पर डॉक्‍टर ने दोबारा जांच के लिए बुलाया. जांच के दौरान डॉक्‍टर ने महिला का पेट छूकर जांच करने की कोशिश की. इसी दौरान डॉक्‍टर ने अपने मोबाईल फोन से उसके प्राइवेट पार्ट की वीडियो बनाना शुरू कर दिया. महिला ने इस बात का विरोध किया और अपने साथ आये परिजनों को इसकी जानकारी दी. फिर महिला के पति व दूसरे लोग डॉक्‍टर के कक्ष में दाखिल हुए. लोगों ने वस्तुस्थिति जानना चाहा और पूछा कि वीडियो किस लिए बना रहे हैं. डॉक्‍टर ने सवाल का जवाब तो नहीं दिया, लेकिन ओछी हरकत करते हुए पकड़े जाने के बाद डॉक्‍टर अस्पताल से फरार हो गया.

थाने में की गयी शिकायत

वहीं पीड़ित मरीज ने इसकी सूचना तुरंत जिरवाबाड़ी थाना को दी. जहां सूचना मिलते ही अर्जुन सिंह सशस्त्र बल के साथ अस्पताल पहुंचे और मामले की जानकारी ली. वहीं अस्पताल जांच करने आये पुलिस ने पीड़ित परिवार को थाना आकर डॉक्‍टर के खिलाफ लिखित शिकायत करने की बात कही. बाद में जिरवाबाड़ी ओपी थाना को लिखित में इसकी सूचना दी गयी.

ड्यूटी पर नहीं लौटा आरोपी डॉक्‍टर

silk_park

जानकारी के अनुसार डॉक्‍टर की महिला मरीजों के साथ छेड़खानी यह कोई नया मामला नहीं है. इसके पहले भी ऐसे कई मामले घटित हो चुके हैं. डॉ पर अपने इसी तरह के कार्यशैली को लेकर कई बातें भी सामने आ चुकी हैं. सिविल सर्जन एके सिंह ने इस घटना के बारे में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अभी तक इस तरह की किसी घटना की जानकारी नहीं मिली है. अगर ऐसी घटना हुई है, तो इसकी जांच के लिए सरकार को लिखूंगा. इधर डॉक्‍टर अस्पताल से फरार हैं. उनका मोबाइल नंबर भी बंद आ रहा है. वह अपने अस्‍पताल में नियमित ड्यूूटी पर भी नहीं लौटे हैं.

धारा 354 के तहत कार्रवाई

मामले में जीरवाबाडी थाना प्रभारी केदार नाथ सिंह ने बताया की मामला संगीन है. पूरे मामले की जांच के बाद डॉक्‍टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है. पूछताछ के लिए डॉक्‍टर से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है. फिलहाल धारा 354 के तहत करवाई की गयी हैं.

इसे भी पढ़ें: हाथ से निकल सकता है झारखंड का तीन कोल ब्लॉक, बनहर्दी खदान के कोयले की कीमत है 40 हजार करोड़

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: