न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पूर्ण शराबबंदी के लिए 25 अक्टूबर को महिला कांग्रेस करेगी सीएम आवास का घेराव

जहरीली शराब पीने से मरे लोगों के श्राद्धकर्म के लिए महिला कांग्रेस ने किया भिक्षाटन, लोगों से की सहयोग की अपील

173

Ranchi : झारखंड प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष गुंजन सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने पूरे राज्य को नशामुक्त समाज बनाने की दिशा में पहल शुरू कर दी है. इसे लेकर महिला कांग्रेस अब बड़ा आंदोलन चलायेगी. हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने से हुई मौत की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ही ऐसी जहरीली शराब परोसने का काम कर रही है. सरकार चाहती, तो शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगा सकती थी, लेकिन वह गरीबों को पूरी तरह खत्म करना चाहती है. वह गरीबों, पिछड़ों, दलितों की आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. उन्होंने कहा कि पार्टी इसको लेकर 25 अक्टूबर को मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेगी. इससे पहले आठ अक्टूबर को राज्य के सभी जिलों में महिला कांग्रेस की ओर से सीएम रघुवर दास का पुतला दहन किया जायेगा. इससे पहले महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लोगों के बीच जाकर हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने से मरे लोगों के श्राद्कर्म के लिए भिक्षाटन किया. कार्यकर्ताओं ने लोगों से बढ़-चढ़कर गरीब परिवारों के लिए सहयोग देने की अपील की.

इसे भी पढ़ें- बीजेपी सांसद रविंद्र राय ने जेवीएम सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी पर ठोका 10 करोड़ का मानहानि का दावा

आंदोलन को दबा रही है सरकार

अध्यक्ष गुंजन सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि राज्य की रघुवर सरकार राज्य में पूर्ण शराबबंदी लागू करें. पिछले दिनों रांची की हातमा बस्ती में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गयी थी. इसको लेकर महिला कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने हातमा बस्ती का दौरा कर इलाके के लोगों से शराबबंदी के समर्थन की मांग की थी. इस मांग का बस्ती के लोगों ने भी समर्थन किया था. शुक्रवार को महिला कांग्रेस की ओर से प्रदर्शन किया जाना था, लेकिन राज्य सरकार की ओर से प्रदर्शन को दबाया जा रहा है. पूरी हातमा बस्ती को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश महिला कांग्रेस लाठी-गोली से डरनेवाली नहीं है. झारखंड में पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर हमारा आंदोलन जारी रहेगा.

इसे भी पढ़ें- रिम्स में आयुष्मान भारत के लाभुक मरीजों को निःशुल्क मिलेगा पेइंग वार्ड का लाभ

गरीबों को नहीं मिल रहा सरकारी सुविधाओं का लाभ

उन्होंने सरकार से मांग की है कि जहरीली शराब से मरनेवालों के परिजनों को 10 लाख रुपये मुआवजा और सरकारी नौकरी दी जाये. साथ ही पीड़ित परिवार को सभी सरकारी सुविधाएं भी मुहैया करायी जायें. उन्होंने कहा कि हातमा बस्ती में कई ऐसे परिवार हैं, जिनका लाल कार्ड बना हुआ है. इसके बावजूद उनको सरकारी सुविधाएं नहीं मिल रही हैं. उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही सरकार इस दिशा में कोई पहल नहीं करती है, तोआने वाले दिनों में प्रदेश महिला कांग्रेस उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी. उन्होंने बताया कि 25 अक्टूबर को मुख्यमंत्री आवास घेराव के दौरान प्रदेश कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उपस्थित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: