न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दैनिक उपयोग की वस्तुओं से युवतियां कर सकती हैं आत्मरक्षा : सुनीता

179

Ranchi : युवतियों की सुरक्षा को लेकर जिस तरह से वर्तमान समय में लोग चिंतित रहते हैं, ऐसे में यह सोचने योग्य बात है कि युवतियां खुद क्यों नहीं अपनी रक्षा करें. युवतियों में आत्मविश्वास हो, तो युवतियां ऐसी घटनाओं को रोक सकती हैं. उक्त बातें सुनीता मुंडेकर ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से शुक्रवार को तीन दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ के दौरान कही. कार्यशाला का आयोजन बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में मिशन साहसी के तहत किया गया. इस दौरान सुनीता मुंडेकर ने कहा कि युवतियां स्वयं की रक्षा दैनिक उपयोग में आनीवाली वस्तुओं जैसे एटीएम कार्ड, पिन, क्लिप, चाबी आदि से भी कर सकती हैं. बस उन्हें इसकी जानकारी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि स्कूलों, कॉलेजों में जब युवितयों को प्रशिक्षण दिया जायेगा, तब युवतियों को इसकी जानकारी दी जायेगी. शॉर्ट ट्रिक से युवतियों को आत्मरक्षा के गुण सिखाये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें- हर घटना-दुर्घटना के लिए खाकी की ही क्यों, सफेदपोशों की भी हो जिम्मेदारी तय : पुलिस मेंस एसोसिएशन

Trade Friends

सार्वजनिक प्रदर्शन किया जायेगा

प्रांत सह मंत्री कृति सिंह ने कहा कि 29 अक्टूबर तक सभी जिलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा. आयोजन विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में किया जायेगा. तीन दिवसीय प्रशिक्षण के बाद हर जिला में 29 अक्टूबर तक अलग-अलग प्रशिक्षकों द्वारा छात्राओं को प्रशिक्षित किया जायेगा, जिसके बाद 30 अक्टूबर को सार्वजनिक प्रदर्शन किया जायेगा.

WH MART 1

इसे भी पढ़ें- फर्जी कागजात के आधार पर फाइनेंस कंपनी से लाखों रुपये की धोखाधड़ी कर फरार हुआ युवक

ये रहे उपस्थित

मौके पर डॉ. पंकज कुमार, प्रदेश मंत्री रोशन कुमार, प्रमुख डॉ. पुष्कर बाला, याज्ञवल्क्य शुक्ला, आशुतोष सिंह, कृष्णा मिश्रा, गुड़िया कुमारी, स्नेहा कुमारी, अनुराधा पांडेय, विपुल मिश्रा, विनय कुमार, सौरभ बोस, भगवत कुमार, गणेश कुमार समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like