JharkhandSimdega

महिलाएं ही समाप्‍त कर सकती हैं डायन प्रथा : बीडीओ

Simdega :  कोलेबिरा प्रखंड सभागार में शनिवार को डायन प्रथा एक अभिशाप के विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में जेएसएलपीएस राज्य स्तरीय पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय भगत, अंचलाधिकारी प्रताप मिंज, डॉ विशाल कुमार प्रखंड कल्याण पदाधिकारी हृदयनाथ पांडे उपस्थित थे. करसोला में प्रखंड विकास पदाधिकारी अजय भगत ने संबोधित करते हुए कहा कि डायन प्रथा एक अभिशाप है.

इस अभिशाप से हमें मुक्ति पाने की आवश्यकता है. हमारे क्षेत्र में डायन प्रथा बहुत अधिक प्रचलित है इसे समाप्त करने की आवश्यकता है. इसे समाप्त करने में आप सभी महिलाओं की भूमिका अति आवश्यक है. आप सभी ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को जागरुक करें.

इसे भी पढ़ें- विदिशा हत्याकांड : छात्राओं के साथ हाई क्यू इंटरनेशनल स्कूल में अनैतिक होता था

ram janam hospital
Catalyst IAS

ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं को जागरुक होने की जरूरत

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

अंचलाधिकारी प्रताप मिंज ने कहा कि हमारे क्षेत्र में डायन प्रथा एक अभिशाप है इसे खत्म करने की आवश्यकता है और जब तक ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं जागरुक नहीं होंगी, इसे खत्म नहीं किया जा सकता है.  हम सभी को मिलकर इस प्रथा को खत्म करने के लिए एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता है. मौके पर उपस्थित पदाधिकारियों ने डायन प्रथा के बारे में अपना अपना वक्तव्य दिया.

इसे भी पढ़ें- विभागों ने खर्च कर दिये 29,449 करोड़, पर नहीं दे पा रहे उपयोगिता प्रमाणपत्र, एजी ने जतायी आपत्ति

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button