JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

शीतकालीन सत्र : हेमंत बोले- मैं पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए मुख्यमंत्री नहीं बना हूँ, सवा तीन करोड़ झारखंडियों के लिए हूँ….

Ranchi: मंगलवार को सदन में पाकिस्तान और बांग्लादेश की भी इंट्री हो गयी. भाजपा के नीलकंठ सिंह मुंडा के एक सवाल पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि वह पाकिस्तान और बांग्लादेश के लिए मुख्यमंत्री नहीं बने हैं. मेरा काम सवा तीन करोड़ झारखंडियों की समस्याओं का समाधान करना है. दरअसल नीलकंठ सिंह मुंडा ने सूचना के माध्यम से सवाल उठाया था कि प्रदेश में आदिवासी, दलित, चिकबराइक और लोहरा सहित कई का जाति प्रमाण पत्र नहीं बन रहा है. लेकिन बांग्लादेशियों का जाति प्रणाम पत्र बन जा रहा है. सीएम ने नीलकंठ सिंह मुंडा के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि आप वरिष्ठ और संवेदनशील हैं लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा में हैं.

इसे भी पढ़ें :  साउथ इस्टर्न रेलवे का कोलकाता गार्डेन रिच में किया गया पीएनएम

स्पेशल ड्राइव चलाकर बनेगा जाति प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सदन में कहा है कि 29 दिसंबर के बाद सभी सरकारी और निजी विद्यालयों में स्पेशल ड्राइव चलाकर जाति प्रमाण पत्र बनाया जाएगा. सभी क्लास के बच्चों का प्रमाण पत्र बनाया जाएगा, चाहे वह किसी भी वर्ग के हों.

झारखंडियों का बिहार और यूपी में फोड़ा जाता है सिर

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड के लोगों का बिहार, यूपी और महाराष्ट्र में सिर फोड़ा जाता है. जाति प्रमाण पत्र की समस्या नयी नहीं है, यह पिछले 15 वर्षों की समस्या है.

इसे भी पढ़ें :  विधानसभा का शीतकालीन सत्र: सदन में सवाल भी लाते हैं और सरकार का जवाब नहीं सुनते, यह उचित नहीं : स्पीकर

Related Articles

Back to top button