Khas-KhabarLead NewsNationalNEWSTOP SLIDERTop Story

Winter Session: संसद के शीत सत्र में बदली नजर आ सकती है कांग्रेस, खड़गे-चौधरी संभाल सकते हैं पार्टी का फ्रंटलाइन

New Delhi: 7 दिसंबर से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र में इस बार कांग्रेस की नई रणनीति व व्यूह रचना नजर आएगी. विपक्षी दलों से सदन की कार्रवाई को लेकर रणनीतिक मेलजोल का जिम्मा नए कांग्रेस अध्यक्ष व विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे तथा लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी पर रहेगा. संसद के शीत सत्र में पहली बार सोनिया और राहुल गांधी की कांग्रेस के सदन के दैनिक कामकाज व विपक्ष से समन्वय में सक्रिय भूमिका नहीं होगी. राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा में व्यस्त रहने के कारण पार्टी के फ्लोर मैनेजमेंट में शामिल नहीं होंगे. कांग्रेस सूत्रों के अनुसार सोनिया गांधी कांग्रेस संसदीय दल की नेता बनी रहेंगी, लेकिन वे सदन में पार्टी के दैनंदिन कामकाज में दखलंदाजी नहीं करेंगी.

इसे भी पढ़ें: Weather Updates : झारखंड में अगले 5 दिनों तक तापमान में कोई बड़े बदलाव की संभावना नहीं, दक्षिण भारत में बारिश का आसार

29 दिसंबर तक चलेगा शीतकालीन सत्र

संसद का शीतकालीन सत्र सात दिसंबर से शुरू होगा. यह 29 दिसंबर को समाप्त होगा. इस सत्र में 17 बैठकें होंगी. लोकसभा और राज्य सभा ने अलग-अलग अधिसूचनाएं जारी कर दी हैं. इस दौरान अहम तारीखों का ब्योरा भी जारी कर दिया गया है. संभावना जताई जा रही है कि राहुल गांधी के साथ ही कांग्रेस के राज्यसभा में मुख्य सचेतक जयराम रमेश व वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह भी शीत सत्र में अधिकांश समय सदन में मौजूद नहीं रहेंगे. दोनों नेता यात्रा के महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. इसलिए कांग्रेस को अगले माह शुरू हो रहे सत्र में फ्लोर मैनेजमेंट व अन्य विपक्षी दलों से समन्वय के लिए अन्य नेताओं की जरूरत पड़ेगी.

Related Articles

Back to top button