National

आरएसएस अपने कार्यक्रम में राहुल गांधी को बुलायेगा? की थी मुस्लिम ब्रदरहुड से तुलना

विज्ञापन

NewDelhi : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आरएसएस अपने कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण दे सकता है. यह खबर राजनीतिक गलियारों में तैर रही है. बता दें कि आरएसएस की तुलना मिश्र के मुस्लिम ब्रदरहुड से करने वाले राहुल गांधी को संघ द्वारा अपने कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए न्योता भेजने की बात सामने आयी है.   मुस्लिम ब्रदरहुड, दुनिया के कई अरब देशों में सक्रिय है. मिस्र, रूस, सऊदी अरब, सीरिया और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की सरकारें इसे आतंकी संगठन मानती हैं.

संघ के न्यौते पर कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि पार्टी इस पर तभी कुछ कहेगी, जब आधिकारिक तौर पर न्यौता मिल जायेगा. पहले न्यौते की भाषा पर गौर किया जायेगा, उसके बाद कोई फैसला होगा. सूत्रों के अनुसार 17 -19 सितंबर को आयोजित एक कार्यक्रम के लिए आरएसएस कई बड़े विपक्षी नेताओं को बुलावा भेज सकता है.

इस संबंध में सोमवार को आरएसएस के प्रचार प्रमुख अरुण कुमार बताया कि कार्यक्रम में  राजनीतिक सहित अन्य क्षेत्रों से लोगों को बुलाया जायेगा. जब मुस्लिम ब्रदरहुड वाले बयान पर अरुण कुमार से पूछा गया तो  उन्होंने कहा, जो अभी भारत को नहीं समझा, वह संघ को नहीं समझ सकता, जानकारी के अभाव में वह ऐसी तुलना कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, नेहरू से जुड़ी विरासत से छेड़छाड़ न हो

राहुल गांधी लगातार आरएसएस पर हमलावर रहे हैं

बता दें कि राहुल गांधी लंबे समय से लगातार आरएसएस पर हमलावर रहे हैं. जर्मनी के बाद ब्रिटेन के दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने शुक्रवार को लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स (LSE) में भारतीय समुदाय के छात्रों से बातचीत करते हुए 2019 के चुनाव को भाजपा-आरएसएस बनाम पूरे विपक्ष की लड़ाई बताया था. आरोप लगाया था कि भारत में ऐसा पहली बार हो रहा है जब संस्थाओं पर कब्जा करने की कोशिश की जा रही है.

इस बयान के बाद राहुल गांधी को आरएसएस के निमंत्रण पर चर्चा तेज हो गयी है. जानकारी के अनुसार आरएसएस अपने कार्यक्रम में हर क्षेत्र के शीर्ष लोगों को बुलायेगा. इनमें पॉलिटिकल और मीडिया के भी चेहरे  होंगे.

इसे भी पढ़ें- भाजपा के अजय मारू ने किया सीएनटी एक्ट का उल्लंघन? जमीन ली प्रेस खोलने के लिए, बना दिया मॉल

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी को न्योता मिल सकता है

सूत्रों के अनुसार आरएसएस राहुल गांधी के अलावा सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी को न्योता दे सकता है. हालांकि इस संबंध में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है.  बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और उद्योगपति रतन टाटा भी आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल हो चुके हैं. मुखर्जी जून 2018 में नागपुर में आयोजित आरएसएस के कार्यक्रम का हिस्सा बने थे जबकि टाटा 24 अगस्त को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए. हालांकि, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के जाने की खबरों के बाद कांग्रेस नेताओं ने जमकर उन पर हमला किया था.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: