National

क्या जेल से बाहर आयेगा राम रहीम? खेती करने के लिए दी है परोल याचिका

Rohtak: रोहतक की सुनारिया जेल में दुष्कर्म और हत्या के मामले में सजा काट रहा डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख गुरमीत राम रहीम जेल से बाहर आ सकता है.

हरियाणा के जेल मंत्री कृष्ण लाल पवार ने इसके संकेत दिये हैं. दरअसल, उन्होंने कहा है कि दो साल बाद अच्छे आचरण के आधार पर किसी भी कैदी को परोल मांगने का हक है. जेल मंत्री के इस बयान से हरियाणा की सियासत गरमा गयी है.

खेती करने के लिए राम रहीम ने मांगी परोल

उल्लेखनीय है कि गुरमीत राम रहीम ने प्रशासन से हरियाणा के सिरसा जिले में अपने खेतों में खेती करने के लिए 42 दिन की परोल मांगी थी.

advt

सरकार ने परोल अर्जी मिलना तो स्वीकार किया है, लेकिन फिलहाल इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है.
इस बारे में रोहतक और सिरसा के कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी गई है.

इसे भी पढ़ेंःगुजरात राज्यसभा चुनाव पर कांग्रेस की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

गौरतलब है कि रोहतक जेल प्रशासन ने कैदी गुरमीत राम रहीम के संतोषजनक आचरण और नियमों का हवाला देते हुए अर्जी पर फैसला लेने के लिए एक चिट्ठी सिरसा जिलाधीश को भेजी थी.

जेल सूत्रों का कहना है कि डेरा प्रमुख के परोल का मामला फिलहाल सिरसा डीसी के पास है. इसलिए दोनों वकीलों ने इस बारे में चर्चा की है.

adv

खेती के लिए परोल मिलना मुश्किल

भले ही राम रहीम ने परोल की अर्जी दी हो, लेकिन खेती करने के लिए जेल से कैदी गुरमीत का बाहर निकलना मुश्किल नजर आ रहा है.

मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक सिरसा के तहसीलदार ने रिपोर्ट में बताया है कि डेरे के पास कुल 250 एकड़ भूमि है. इसमें कहीं भी राम रहीम मालिक या किसान नहीं है. और सारी भूमि डेरा सच्चा सौदा ट्रस्ट के ही नाम है. ऐसे में प्रशासन की नजर में परोल का आधार नहीं बन रहा है.

इसे भी पढ़ेंःरिपोर्टः हाल के दिनों तेजी से बढ़ा हेट क्राइम, बीजेपी शासित राज्यों में 66% घटनाएं

राम रहीम से मिले परिजन

परोल मिलने की अटकलों के बीच डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से मिलने उनके परिजन सुनारिया जेल पहुंचे. वे करीब आधे घंटे तक यहां रहे और फिर सिरसा रवाना हो गए. कैदी राम रहीम से जेल में मुलाकात के लिए सोमवार और गुरुवार का दिन निर्धारित है.

दोपहर के समय राम रहीम की मां नसीब कौर, बेटा जसमीत, बेटी चरणप्रीत और दामाद रूह ए मीत और वकील केवल सिंह बराड़ संदीप कामरान पहुंचे. इसके बाद जेल प्रशासन की ओर से राम रहीम से मुलाकात कराई गई.

गौरतलब है कि सजा सुनाये जाने के बाद से राम रहीम रोहतक के सुनारिया स्थित जेल में बंद है.

इसे भी पढ़ेंःकोलकाता : चार संदिग्धों को STF ने किया गिरफ्तार, इस्लामिक स्टेट आतंकी होने का दावा

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button