Lead NewsNationalTOP SLIDERTRENDING

Ghulam Nabi Azad  बना सकते हैं नयी पार्टी, कहा-”आलोचना सुन नहीं पाती कांग्रेस लीडरशिप”

New Delhi : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री Ghulam Nabi Azad  ने एकबार फिर पार्टी नेतृत्व पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के कार्यकाल में सवाल पूछने की इजाजत थी, लेकिन आज के दौर में पार्टी लीडरशिप आलोचना सुनने को तैयार नहीं है.

इसे भी पढ़ें :आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन : 21 लाख से अधिक नागरिकों का झारखंड में बन गया हेल्थ कार्ड

”आलोचना से नाराज हो जाती है लीडरशिप”

एनडीटीवी से बातचीत के दौरान गुलाम नबी आजाद ने कहा, ”कोई भी पार्टी नेतृत्व को चुनौती नहीं दे रहा है, लेकिन इंदिरा और राजीव ने मुझे जब चीजें गलत हों तो सवाल उठाने की छूट दे रखी थी. उन्हें आलोचना से दिक्कत नहीं होती थी, वे इससे नाराज नहीं होते थे. लेकिन आज का पार्टी नेतृत्व आलोचना से नाराज हो जाता है.”

NDTV से बातचीत में गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इंदिरा गांधी ने मुझे राजीव गांधी तक को ‘ना’ करने की छूट दे रखी थी. उन्होंने राजीव को कहा था कि मेरी ‘ना’ का मतलब ये नहीं है कि यह किसी तरह का अपमान है, बल्कि यह पार्टी की बेहतरी के लिए है.

इसे भी पढ़ें :ओमिक्रोन वैरिएंट से व्यक्ति दिल्ली में भी मिला, अब तक देश में पांच

इसलिए लग रही हैं नई पार्टी बनाने की अटकलें

आजाद के कांग्रेस छोड़कर नई पार्टी बनाने की अटकलें लग रही हैं. हालांकि उन्होंने नई पार्टी बनाने की खबरों से इनकार किया है, हालांकि उन्होंने कहा कि राजनीति में आगे क्या कुछ हो किसी को पता नहीं.

उनके कांग्रेस छोड़ने की अटकलें इसलिए भी तेज हैं क्योंकि आजाद आजकल जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं. वहां वे लगातार लोगों से मिल रहे हैं. हाल ही में उनके 20 करीबियों ने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी है.

पार्टी छोड़ने की अटकलों से इनकार करते हुए आजाद ने कहा, ”अनुच्छेद 370 हटने के बाद पिछले 2 साल से जनता और नेताओं में संबंध टूट सा गया है, इसलिए मै राज्य में राजनीतिक गतिविधियों को दोबारा शुरू करने की कोशिश रहा हूं.”

इसे भी पढ़ें :52 लाख का घोड़ा-BMW कार…ED  के चंगुल में फंसे सुकेश ने बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन और नोरा फतेही पर लुटाये थे करोड़ों रुपये

 

Advt

Related Articles

Back to top button