JharkhandLead NewsRanchi

क्या उद्घाटन के लिए डेढ़ महीने में तैयार हो पायेगा देवघर एयरपोर्ट, 17 सितंबर के डेट पर सांसद-विधायक आश्वस्त

AMIT JHA

Ranchi : देवघर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के उद्घाटन पर सबों की नजरें टिकी हुई हैं. सांसद, विधायक उम्मीद कर रहे हैं कि पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के मौके पर 17 सितंबर को इस एयरपोर्ट का उद्घाटन हो जायेगा. पर स्थानीय जिला प्रशासन इसकी ऐसी कोई गारंटी देने की स्थिति में नहीं लगता. अब भी 25 फीसदी काम बचा हुआ है. केंद्र ने नवंबर, 2020 के पहले सप्ताह से ही यहां हवाई सेवा शुरू करने की बात की थी. फिलहाल नागरिक उड्डयन मंत्रालय (केंद्र सरकार) ने एयरपोर्ट के उद्घाटन के संबंध में किसी तरह की तिथि तय नहीं की है. ऐसे में इस पर आशंका बनी हुई है कि अगले डेढ़ महीने में 25 प्रतिशत कार्यों को इस बारिश के सीजन में पूरा कैसे किया जा सकेगा.

advt

एयरपोर्ट के लिए जारी है राजनीति

देवघर एयरपोर्ट पर लगातार राज्य में राजनीति देखने को मिली है. 25 मई, 2018 को पीएम नरेंद्र मोदी ने इस एयरपोर्ट के निर्माण कार्य का ऑनलाइन उद्घाटन किया था. 400 करोड़ की भी अधिक लागत से 657 एकड़ जमीन पर इसका काम तभी से जारी है. संताल के विकास को भाजपा इसे पीएम मोदी का एक बड़ा प्रोग्राम मानती आयी है. गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे मानते हैं कि दरभंगा एयरपोर्ट के साथ देवघर एयरपोर्ट भी चालू हो सकता था. पर इसमें राज्य सरकार की राजनीति अड़ंगा लगाती रही है. झामुमो प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने पिछले दिनों एक बयान में कहा था कि देवघर एयरपोर्ट तैयार है. सावन के पहले सोमवार को एयरपोर्ट चालू करने की बात कही थी. यदि उनकी बातों का कोई आधार है तो सीएम को चाहिये कि दो सप्ताह में एप्रोच रोड बनवा दें. इससे सावन की पहली सोमवारी को एयरपोर्ट चालू हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें :  बचपन में लकड़ियों का गट्ठर उठानेवाली लड़की की बदौलत टोक्यो ओलंपिक में गूंजा जन-गण-मन

एप्रोच रोड के लिए जमीन भी, पैसे भी

गौरतलब है कि जुलाई के दूसरे सप्ताह में देवघर डीसी ने निशिकांत को बताया था कि एयरपोर्ट के एप्रोच रोड के लिए रैयतों से जमीन अधिग्रहण करना होगा. इसके लिए एमपी लैड फंड का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता. इसके बाद सांसद की अपील पर देवघर-मोहनपुर एप्रोच रोड के लिए कई रैयत सामने आये थे. उन्होंने देवघर के लोगों से कहा था कि 2 हजार 500 वर्ग गज जमीन की जरूरत है जिसकी कीमत केवल 11 लाख रुपये है. इसे चंदा देकर सरकार को रजिस्ट्रेशन कराइये. इसके बाद ग्रामीणों ने आगे बढ़कर ना सिर्फ जमीन दी बल्कि एप्रोच रोड के लिए चंदा देने को भी कई लोगों ने मदद को हाथ बढ़ाया था. अभी तक लगभग 4 करोड़ 32 देने का वादा सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों ने किया है.

जारी है संशय

पूर्व में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी देवघर दौरे पर आय़े थे. कहा था कि देवघर आने को सड़क औऱ रेल ही एकमात्र विकल्प अभी है. नवंबर 2020 के पहले सप्ताह से हवाई सेवा भी यहां शुरू हो जायेगी. यह दावा धरातल पर नहीं उतर सका है.

इसे भी पढ़ें :   अगर मोबाइल पर दिखे सर्वर नॉट फाउंड तो हो जाएं अलर्ट, आपके बैंक खाते हो सकते हैं खाली

इसी साल से सेवाः विधायक

देवघर विधायक नारायण दास के मुताबिक एयरपोर्ट के सभी काम अंतिम चरण में हैं. केंद्र औऱ राज्य का परस्पर सहयोग बना रहा तो इसी साल सितंबर तक एयरपोर्ट का काम पूरा हो जायेगा. लोग हवाई सफर का आनंद ले सकेंगे. पूर्व मंत्री सुरेश पासवान मानते हैं कि एयरपोर्ट का काम अब 25 फीसदी ही बाकी है. उन्हें उम्मीद है कि इसी साल सितंबर तक इसका बाकी काम पूरा हो जायेगा. लोगों के लिए सरकार की ओर से यह बड़ी सौगात होगी.

संताल की सूरत बदलेगा एयरपोर्ट

देवघर में बनने वाला एयरपोर्ट दरभंगा एयरपोर्ट की तुलना में अधिक शानदार बन रहा है. यहां आधुनिक तरीके से पूरी व्यवस्था के साथ अंतरराष्ट्रीय क्वालिटी का एयरपोर्ट तैयार किया जाना है. एयरपोर्ट को पर्यावरण के अनुकूल और अत्याधुनिक यात्री सुविधाओं से लैस किया जा रहा है. दरभंगा से फिलहाल डोमेस्टिक सर्विस ही मिल रही है. देवघर एयरपोर्ट के जरिये ना सिर्फ संताल में विकास की गति तेज होगी, बल्कि अगल बगल के राज्यों पश्चिम बंगाल, बिहार, ओड़िसा में भी पर्यटन, कारोबार की रफ्तार तेज होगी. एयरपोर्ट के अलावा एम्स, रेलवे नेटवर्क का भी विस्तार देवघर सहित समूचे संताल की सूरत बदलेगी.

इसे भी पढ़ें : राज्य के सरकारी हाई स्कूलों व प्लस टू स्कूलों में होगी कंप्यूटर की पढ़ाई, प्रक्रिया शुरू

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: