न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

क्या फिर सत्ता परिवर्तन की भेंट चढ़ जायेगा बिरसा स्मृति पार्क, पहले भी बर्बाद हो चुके हैं 10 करोड़ रुपये

पहले वन विभाग, फिर नगर विकास विभाग के अंतर्गत जुडको कर रहा है पार्क निर्माण का काम

182

Ranchi : पुराने जेल परिसर में बननेवाले बिरसा मुंडा स्मृति पार्क का शिलान्यास मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा 11 अक्टूबर को कर दिया गया है. वहीं, इस पार्क को बनाने के लिए नगर विकास विभाग द्वारा बने 106 करोड़ रुपये की लागत के प्रस्ताव को पहले ही कैबिनेट से मंजूरी मिल चुकी है. लेकिन, एक सच्चाई यह भी है कि इसी पार्क को बनाने में पहले ही 10 करोड़ रुपये बर्बाद किये जा चुके हैं. 10 करोड़ रुपये की यह राशि वन विभाग द्वारा खर्च की गयी थी. बाद में जब राज्य में सत्ता परिवर्तन हुआ, तो वर्तमान एनडीए सरकार ने पार्क निर्माण के लिए नये सिरे से 106 करोड़ रुपये की लागत का प्रस्ताव बनाया. ऐसे में सरकार बदलते कार्य की स्थिति को देख सवाल उठता है कि अगर वर्तमान सरकार चुनाव बाद बदलती है, तो क्या पार्क निर्माण का उक्त कार्य पूरा हो पायेगा. मालूम हो कि प्रारंभ में इस पार्क का निर्माण वन विभाग द्वारा कराया जा रहा था. बाद में वन विभाग के अधिकारियों ने कार्य में सक्षम न होने की बात कहते हुए अपने हाथ पीछे खींच लिये थे. इसके बाद सरकार ने आगे का काम नगर विकास विभाग को सौंप दिया. नगर विकास विभाग ने इस पार्क को आधुनिक रूप देने की जवाबदेही जुडको को सौंप दी थी.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- गिरी हुई पार्टी है भाजपा, भगवान राम उनके लिए सत्ता पाने का रास्ता :  डॉ अजय कुमार

सीएम बदलते ही पार्क निर्माण कार्य में हुआ 10 करोड़ का नुकसान

मालूम हो कि भगवान बिरसा मुंडा की स्मृति में बननेवाले इस पार्क का शिलान्यास 15 नवंबर 2013 को तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने किया था. उस दौरान इस पार्क में वन विभाग द्वारा 10 करोड़ रुपये इस पर खर्च कर कई कार्य का निर्माण कराया गया. इस राशि से पार्क के अंदर तिकोना घड़ी, चिल्ड्रेन पार्क, बागवानी, चहारदीवारी, पार्क के अंदर डांस फ्लोर, पुल, बच्चों के लिए खेलने के लिए झूले,  ओपेन स्पेस,  रेन डांस की सुविधा, आकर्षक लाइट्स की व्यवस्था की गयी थी. जब राज्य में नये मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सत्ता संभाली, तो पार्क में बने उक्त सभी कार्य का निरीक्षण बंद हो गया. इससे उक्त सभी कार्य बेकार होने लगे. बिरसा मुंडा स्मृति पार्क में कई जगह बनायी गयी मूर्तियां, झूले टूटने लगे.

इसे भी पढ़ें- News Wing Impact : IAS हों या सहायक, बिना सूचना बंक मारा तो कटेगा वेतन, ट्रेजरी से जुड़ेगा…

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

11 अक्टूबर को ही सीएम ने किया था शिलान्यास

पार्क निर्माण का कार्य जब जुडको को नगर विकास विभाग द्वारा सौंपा गया, तो काम को नये सिरे से करने की तैयारी की गयी. सरकार के नये निर्देश के बाद पार्क के पहले चरण के निर्माण के लिए झारखंड अरबन इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (जुडको) को जिम्मेदारी मिली. वहीं, सीएम रघुवर दास ने इस वर्ष 11 अक्टूबर को पार्क निर्माण का शिलान्यास भी कर दिया. लेकिन, अगर भाजपा राज्य की सत्ता से हटती है, तो क्या पार्क की स्थिति वही हो जायेगी, जो पूर्ववर्ती हेमंत सोरेन के कार्यकाल के बाद हुई थी.

इसी जेल परिसर मे बनना है बिरसा मुंडा स्मृति पॉर्क
11 अक्टूबर को राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया था पार्क का शिलान्यास.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: