न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने रोहित शेखर तिवारी की हत्या की बात कबूली, गिरफ्तार

780

New Delhi: दिल्ली पुलिस ने रोहित शेखर तिवारी की पत्नी अपूर्वा शुक्ला को रोहित की कथित तौर पर हत्या करने के मामले में बुधवार को गिरफ्तार किया.

कांग्रेस के दिग्गज नेता और चार बार यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या कांड को सुलझाते हुये पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दोनों अपनी शादी से खुश नहीं थे और उनमें लगातार झगड़े होते रहते थे.

इसे भी पढ़ेंःदेखें वीडियोः कैसे सिपाही जी ट्रेन में कर रहे हैं दातून और सब्जी बेचने वालों से अवैध वसूली

hosp3

ठोस सबूत के आधार पर गिरफ्तारी

दिल्ली पुलिस का कहना है कि अपूर्वा शुक्ला के खिलाफ पुख्ता सबूत उन्हें मिले हैं. दरअसल, अपूर्वा से रोहित मर्डर केस में गत रविवार से पूछताछ की जा रही थी.

वह लगातार अपने बयान बदल रही थी. जिससे पुलिस को उस पर संदेह हुआ. पुलिस वारदात के बाद से रोहित की पत्नी समेत घर के 6 लोगों से पूछताछ कर रही थी.

मां ने दोनों के बीच लड़ाई की कही थी बात

रोहित की मां उज्ज्वला ने रविवार को अपनी बहू अपूर्वा और उसके परिवार पर लालची होने का आरोप लगाते हुए कहा था कि वे पारिवारिक संपत्ति हड़पना चाहते थे. उन्होंने पहले कहा था कि दंपति के बीच शादी के पहले दिन से ही झगड़े हो रहे थे.

वारदात वाली रात भी हुआ था झगड़ा

रोहित मर्डर केस की जांच कर रही दिल्ली क्राइम ब्रांच की पूछताछ में आखिर अपूर्वा ने अपना गुनाह कबूल किया है. पूछताछ के दौरान ये बात भी सामने आयी कि हत्या वाली रात भी अपूर्वा और रोहित के बीच झगड़ा हुआ था.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में भाजपा, कांग्रेस, माले को छोड़ किसी दूसरे दल ने महिलाओं को नहीं बनाया प्रत्याशी

मिली जानकारी के मुताबिक, रोहित उस रात अपनी एक महिला मित्र के साथ शराब पी रहा था. जिसे लेकर अपूर्वा और रोहित में लड़ाई हुई. साथ ही अपूर्वा की अपने मायके वालों के लिए अलग से मकान बनाने को लेकर भी रोहित से अनबन चल रही थी.

अपूर्वा और रोहित के बीच इस मामले को लेकर हत्या वाली रात हाथापाई हुई थी और उसी दौरान रोहित का गला दबाकर उसे मार दिया गया.

सबूत मिटाने की हुई थी कोशिश

पुलिस को जांच में पता चला कि घटना वाली रात ही अपूर्वा ने सबूत मिटाने के लिए अपना मोबाइल तक फार्मेट कर दिया था. इतना ही नहीं जिस कमरे में रोहित की हत्या हुई वहां का सीसीटीवी कैमरा खराब होना भी इस बात को पुख्ता कर रहा था कि हत्या में कोई बाहरी व्यक्ति नहीं, घर का ही कोई शख्स शामिल था.
अपूर्वा के बयानों के अनुसार उसके और रोहित के बीच में हाथापाई के दौरान दोनों ही एक दूसरे को मारने की कोशिश कर रहे थे. इस दौरान अपूर्वा ने रोहित की गला घोंट कर हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ेंःअब तक तीन फेज के वोटर टर्नआउट के संकेत सत्तापक्ष की बेचैनी बढ़ा रहे हैं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: