JharkhandJharkhand PoliticsRanchiTOP SLIDER

निशिकांत क्यों इरफान को भेजना चाहते हैं पाकिस्तान!

Ranchi: बुधवार को गोड्डा के भाजपा सांसद निशिकांत दुबे और जामताड़ा के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी के बीच ट्विटर पर एक बार फिर वाक युद्ध छिड़ गया. इरफान ने निशिकांत को मालगाड़ी पर बिठाकर भागलपुर होते हुए दिल्ली रवाना करने की धमकी दी तो इसके जवाब में निशिकांत ने भी उन्हें पाकिस्तान भेजने की वकालत कर डाली.

असल में इरफान लगातार अलग अलग मंचों पर सांसद को अस्थायी सांसद या बाहरी सांसद बताते रहे हैं. ट्विटर पर भी वे इसे जाहिर करते आये हैं. बुधवार को उन्होंने लिखा कि मालगाड़ी से सांसद को भागलपुर के रास्ते दिल्ली या उन्हें उनके घर 2024 में रवाना कर देंगे. इसी पर सांसद ने उन्हें चुटकी लेते हुए कहा कि 1947 में देश का बंटवारा हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर हुआ. इस हिसाब से इरफान को पाकिस्तान चले जाना चाहिये.

इसे भी पढ़ें – अगर आपको भी है CBSE 12वीं के रिजल्ट का इंतज़ार, तो जानिए कैसे तैयार होगी आपके बच्चे की मार्कशीट…

ट्विटर पर दिखता है जबर्दस्त याराना

सोशल मीडिया पर सांसद और विधायक के बीच दिलचस्प नोंक-झोंक देखने को मिलती रहती है. 10 जून को इरफान ने ट्विटर पर कहा कि सांसद निशिकांत जनता के सुख दुख में साथ दें. वे हवा हवाई ना बनें. देवघर एयरपोर्ट सांसद की जागीर नहीं है. इसका कंट्रोल झारखंड सरकार को देना होगा. इनके कहने पर एयरपोर्ट का ओपनिंग नहीं होगी. जब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कहेंगे, तभी ओपनिंग होगी. इस पर सांसद ने कहा कि इरफान की बातों को दूध-भात माना जाता है. कांग्रेस पार्टी उन्हें बेइज़्ज़त करते रहती है. विधायक झूठ मूठ के चिल्लाते रहते हैं.

advt

निशिकांत के मुताबिक गोड्डा लोकसभा क्षेत्र में रेलगाड़ी, एम्स,एयरपोर्ट, पुनासी, अडाणी प्लांट लगाने और अन्य कार्यों के लिये इरफान उन्हें श्रेय देते हैं. कांग्रेस में कम से कम एक नेता तो ऐसा है जो सही बोलता है. हालांकि इरफान ने जवाब में कहा कि निशिकांत बयान को भी नहीं समझते. वे झूठ कहते हैं. झूठ की बुनियाद पर बना महल ज्यादा दिन नहीं टिकता.

इसे भी पढ़ें – मानसून की दस्तक से किसान खुश और क्यों दुखी हैं गोपालगंज के शहरवासी…. देखिये

फुरकान पर भी निशाना

सांसद गोड्डा के पूर्व सांसद फुरकान अंसारी को लेकर भी ट्विटर पर मोर्चा खोले रहते हैं. फुरकान कहते हैं कि गोड्डा में काम की बजाय सांसद अनावश्यक कार्यों में लगे रहते हैं. जानबूझकर मीडिया में बने रहते हैं. इस पर निशिकांत ने कहा था कि गोड्ड़ा की जनता ने उन्हें काम करने के लिये चुना है. जनता के हित में जो वाजिब लगता है, वे जरूर करते हैं.

इसे भी पढ़ें – रांची सदर अस्पताल में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान 1300 से अधिक मरीजों का हुआ इलाज

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: