Lead NewsWorld

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में क्यों लहराये मोदी के पोस्टर ? जानिये भारतीय पीएम से क्या उम्मीद है वहां के लोगों की

सिंध के सान कस्बे में लोगों ने सड़कों पर निकलकर किया प्रदर्शन

Uday Chandra 

New Delhi :पाकिस्तान के सिंध प्रांत में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पोस्टर लहराए जाने के बाद इमरान सरकार की चिंताएं बढ़ गई है. पाकिस्तान में सिंध को अलग देश बनाने की तेज होती मांग के बीच आंदोलनकारियों के हाथों में नरेंद्र मोदी की तस्वीर ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों को भी चिंता में डाल दिया है.

जीएम सैयद की 117वी जयंती पर हुआ प्रदर्शन

दरअसल, रविवार को सिंध के सान कस्बे में सैकड़ों लोगों ने सड़कों पर निकलकर प्रदर्शन किया. इस दौरान उनके हाथ में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई विदेशी नेताओं की तस्वीरें दिखाई दीं. प्रदर्शनकारियों ने अपील की है कि विश्व के नेता सिंध को अलग देश बनाने में मदद करें. सिंध प्रांत के लोगों को नरेंद्र मोदी से विशेष उम्मीदें हैं. इस प्रदर्शन का आयोजन जीएम सैयद की 117वी जयंती के अवसर पर किया गया था.

इसे भी पढ़ें :बाबूलाल का हेमंत सरकार पर करारा प्रहार, बोले -राज्य के कई मंत्रियों की नक्सलियों से सांठगांठ, अंधेरे में नक्सलियों से मिलते हैं मंत्री

लोगों ने सिंध की आजादी के समर्थन में नारे भी लगाए

इस मौके पर सिंध को अलग देश बनाने को लेकर एक बड़ा धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया. जीएस सैयद को आधुनिक सिंधी राष्ट्रवाद का संस्थापक माना जाता है. प्रदर्शन के दौरान लोगों ने आजादी के समर्थन में नारे भी लगाए थे. उन्होंने दावा किया कि सिंधु, सिंधु घाटी व्यवस्था और वैदिक धर्म का घर है. इस पर ब्रिटिश साम्राज्य ने अवैध रूप से कब्जा कर लिया था और आजादी के समय पाकिस्तान के इस्लामी हाथों में दे दिया था.

दरअसल, सिंध में कई राष्ट्रवादी दल हैं, जो एक स्वतंत्र सिंध राष्ट्र की मांग कर रहे हैं. ये राष्ट्रवादी पाकिस्तान पर हमेशा इस क्षेत्र के संसाधनों का दोहन का आरोप लगाते हैं. सिंध प्रांत में मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों में भी हाल के दिनों में तेजी आयी है.

इसे भी पढ़ें :छठी जेपीएससी मामले में हाईकोर्ट ने 3 फरवरी को अंतिम सुनवाई के लिए तिथि निर्धारित की

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: