BokaroMain Slider

चास SDM IAS शशि प्रकाश ने आखिर क्यों कहा- इसे दूर ले जाकर इतनी जोर से मारो कि आवाज मुझ तक आये, देखें वीडियो

विज्ञापन

Bokaro: सेक्टर वन चास एसडीएम आवास गुरुवार सुबह करीब 10 बजे. चास के एसडीएम आइएएस शशि प्रकाश सिंह ने राजीव कुमार, जो सहायक सांख्यिकी पदाधिकारी और बोकारो जिला के प्रभारी उपनिर्वाचन पदाधिकारी भी हैं, उन्हें अपने आवास पर बुलाया.

राजीव कुमार एसडीएम आवास पहुंचे. जब वो एसडीएम के केबिन में गये तो वहां डॉ. आभा सिंह मौजूद थी. आभा सिंह, राजीव कुमार पर कुछ फाइल को ना निबटाने का आरोप लगा रही थी.

advt

इसे भी पढ़ेंः#RSS चीफ मोहन भागवत ने रांची में कहा, राष्ट्र या राष्ट्रीय शब्द कहें, राष्ट्रवाद में है नाजी हिटलर की झलक

आरोप को सुनकर एसडीएम साहब आग बबूला हो गए. उन्होंने अपने बॉडीगार्ड से कहा कि इसे केबिन से बाहर ले जाकर इतनी जोर से मारो कि उसकी आवाज मुझे यहां तक सुनाई देनी चाहिए. इस बात का राजीव कुमार ने विरोध किया.

राजीव कुमार ने कहा कि अगर आप ऐसा करेंगे तो मैं इसका विरोध करूंगा. इतने पर एसडीएम साहब अपनी कुर्सी से उठे और अपने बॉडीगार्ड के साथ मिलकर राजीव कुमार की पिटाई कर दी.

ऐसा आरोप खुद राजीव कुमार चास के एसडीएम शशि प्रकाश सिंह पर लगा रहे हैं. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “मुझे एसडीएम के गोपनीय शाखा से फोन आया. कहा गया कि एसडीएम साहब बात करना चाहते हैं. एसडीएम साहब ने मुझसे कहा कि क्या तमाशा किये हुए हो, तुम 10 मिनट में मेरे कार्य़ालय पहुंचो. मैंने जैसे ही एसडीएम के कार्यालय में प्रवेश किया, उन्होंने मुझे बड़े ही कड़े रुख में डॉ. आभा सिंह के सामने खड़े रहने को कहा. उसके बाद उन्होंने वहां मौजूद सिपाही को कहा कि इसको उधर ले जाकर इतना मारो कि आवाज मुझ तक आनी चाहिए. मैंने इसका विरोध किया, तो वहीं कमरे में ही मुझे मारना शुरू कर दिया. उनके साथ उनके बॉडीगार्ड ने भी मुझपर हाथ छोड़ा. मारपीट के दौरान मेरे आंख में चोट आयी है. साथ ही मुझे मां-बहन की गाली भी दी गयी है.”

adv

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के विकास में बाधक लेवी के कारण होती रही हैं हत्याएं और आगजनी की घटनाएं

उसने मेरे बॉडीगार्ड से मारपीट कीः एसडीएम

मामले पर न्यूज विंग से बात करते हुए चास के एसडीएम शशि प्रकाश सिंह ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. मैंने किसी के साथ मारपीट नहीं की है. उल्टा उसने ही मेरे बॉडीगार्ड के साथ मारपीट की. जिसने बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया.

मामले के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि डॉ. आभा जो कि एक बीएसएल कर्मी हैं. जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने का उन्हें प्रभार दिया गया है. डॉ. आभा ने राजीव कुमार पर गंभीर आरोप लगाए. उन्होंने राजीव कुमार पर ऑफिस में महिलाओं का उत्पीड़न का आरोप लगाया. बदतमीजी से पेश आना. उनपर कर्मियों के कार में तोड़ फोड़ करने का भी आरोप हैं.

हर बात का उल्टा जवाब देना. फाइल मांगे जाने पर नहीं देना. जैसे ही मुझे इन बातों का पता लगा मैंने उन्हें अपने दफ्तर में बुलाया. मैंने उनसे पूछा कि आखिर क्यों वो ऐसा कर रहे हैं. वो अपना पक्ष रखने के दौरान बदतमीजी करने लगे. ऐसा करने पर जब उन्हें बाहर करने को मैंने अपने बॉडीगार्ड को कहा तो वो मारपीट पर उतारू हो गए. उन्होंने हमारे बॉडीगार्ड के साथ हाथापायी कर ली. तब मुझे पुलिस को बुलाना पड़ा. और उन्हें पुलिस के हवाले करना पड़ा.

 

चास SDM के बॉडीगार्ड का खुलासाः राजीव को खड़े रहने को कहा तो बदतमीजी की, मेरा कॉलर पकड़ा और शर्ट फाड़ दी


चास एसडीएम शशि प्रकाश सिंह पर सहायक सांख्यिकी पदाधिकारी राजीव कुमार ने मारपीट का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि चास एसडीएम और उनके बॉडीगार्ड नितय कर्मकार ने मिलकर पीटा.

इस मामले में न्यूज विंग ने चास एसडीएम से बात की. उनका कहना था कि आरोप गलत है. उन्होंने साफ कहा कि राजीव कुमार को जब कार्यालय में खड़े रहने को कहा गया को उन्होंने बदतमीजी की और मेरे बॉडीगार्ड के साथ मारपीट की.

अब एसडीएम के बॉडीगार्ड का एक वीडियो सामने आ रहा जिसमें वो कहते नजर आ रहे हैं कि “कोई भी सिपाही यह कभी नहीं बर्दाश्त करेगा कि उसे कोई उसके साहब के सामने उसका कॉलर पकड़े और टेबल पर पटक दे.

राजीव कुमार के अंदर आते ही साहब ने मुझे बुलाया. साहब ने उन्हें साइड में खड़े रहने को कहा. उसके खड़े होने का तरीका सही नहीं था. साहब ने उन्हें ठीक से खड़े रहने को कहा.

इतना कहते ही उसने जवाब दिया कि लगता है कि आप हमको नहीं पहचान रहे हैं. इतना सुनने के बाद साहब  मुझे कहा कि नितय इसे लेकर बाहर जाओ. मैंने कहा कि चलिये आप बाहर चलिये.

राजीव कहने लगा कि मुझे हाथ मत लागाना. मैंने बाहर ले जाने के लिए जैसे ही उसके हाथ को पकड़ा. उसने मेरा कॉलर पकड़ लिया. कॉलर पकड़ कर मुझे धकेलने लगा. ऐसा करने से मेरा बटन भी टूट गया.

एक पुलिसवाले की वर्दी का बटन कभी टूटा हुआ नहीं हो सकता.”

डॉ आभा रानी ने भी लगाये गंभीर आरोप 

सहायक कर्मी राजीव कुमार पर बीएसएल की तरफ से जन्म और मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने के लिए सरकार की तरफ रखी गयी बीएसएल की डॉक्टर आभा रानी ने राजीव कुमार पर गंभीर आरोप लगाये हैं.

ये वही महिला डॉक्टर हैं जो घटना के वक्त चास एसडीएम के कार्यालय में मौजूद थीं. उन्होंने एसडीएम शशि प्रकाश सिंह को लिखित आवेदन देते हुए कहा है कि ऑफिस में किसी भी काम के लिए पूछे जाने पर वह बहुत बदतमीजी करते थे.

हमेशा पैर कुर्सी पर रखकर बैठते थे. कई बार बहस के दौरान उन्होंने हाथ उठाने की कोशिश भी की. किसी भी काम के लिए पूछे जाने पर वह हमेशा टाल देते थे. काम नहीं करते थे.

उनका कहना था कि 20 सालों से ऐसे ही काम होते आ रहा है, और आगे भी ऐसा ही होता रहेगा. एक जरूरी दस्तावेज मांगे जाने पर उन्होंने मुझे भद्दी भद्दी गालियां दी. मेरी गाड़ी को भी राजीव कुमार ने क्षतिग्रस्त किया.

इसे भी पढ़ेंःमहिला से दुष्कर्म की कोशिश के मामले में अग्रिम जमानत के लिए ढुल्लू महतो ने कोर्ट में दायर की याचिका

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button