न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हार्दिक पटेल को थप्पड़ मारने वाले को समर्थकों ने पीटा, अस्पताल में भर्ती, थप्पड़ मारने का कारण बताया

पत्नी गर्भवती थी. उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था.  उस समय मुझे काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.  मैंने उसी समय फैसला कर लिया था कि मैं इस आदमी को मारूंगा.

165

Ahmedabad :  आज शुक्रवार को गुजरात के सुरेंद्रनगर में  कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल  को तरुण गज्जर नाम के शख्स ने थप्पड़ मार दिया. उस समय वे जनसभा को संबोधित कर रहे थे . उनके भाषण के दौरान तरुण गज्जर मंच पर चढ़ा और हार्दिक  को थप्पड़ लगा दिया.  पटेल बलदाणा गांव में रैली कर रहे थे.  मौके पर मौजूद लोगों ने तुरंत तरुण को पकड़ लिया. इसके बाद  समर्थकों ने उसकी पिटाई कर दी.  जिसकी वजह से उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बता दें कि  हार्दिक को थप्पड़ मारने वाले गज्जर ने अस्पताल से अपनी सफाई दी है. उसने कहा कि  जब पाटीदार आंदोलन हुआ उस समय मेरी पत्नी गर्भवती थी. उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था.  उस समय मुझे काफी परेशानी का सामना करना पड़ा.  मैंने उसी समय फैसला कर लिया था कि मैं इस आदमी को मारूंगा.

इसे भी पढ़ें – शहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी का विवादित बयान, कहा- उन्हें कर्मों की मिली सजा

वह कौन है? गुजरात का हिटलर?

तरुण गज्जर ने कहा कि मुझे उसे किसी भी तरह से सबक सिखाना था.   तरुण  के अनुसार अहमदाबाद में उनकी रैली के दौरान जब मैं अपने बच्चे के लिए दवाई लेने गया,  तो सबकुछ बंद हो गया.  उन्होंने सड़के बंद करवा दी थीं. वह जो चाहते थे गुजरात में उसे बंद करवा देते थे.  वह कौन हैं? गुजरात का हिटलर?  उधर हार्दिक ने गज्जर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.  बताया गया कि हार्दिक को थप्पड़ मारने वाला तरुण गुजरात के कड़ी का रहने वाला है.  घटना के बाद हार्दिक के समर्थकों ने उसकी काफी पिटाई की थी, इस वजह से उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया .

hotlips top

हार्दिक के समर्थक इतने गुस्से में थे कि उन्होंने तरुण के कपड़े तक फाड़ दिये थे.  हालांकि हार्दिक ने समर्थकों को उसकी पिटाई करने से रोका. बता दें कि  एक समय गुजरात के पाटीदार आंदोलन के मुखिया रहे हार्दिक पटेल के चुनाव लड़ने पर रोक लगी हुई है.  उन्हें मेहसाणा दंगा मामले में उच्च न्यायालय ने दो साल की सजा सुनाई थी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के उन उम्मीदवारों को जानिए जिनकी जीतने की संभावना है कम, लेकिन होंगे गेमचेंजर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like