न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पुलिस की सख्ती के बाद भी नहीं राजधानी रांची में नहीं रुक रहा ‘सफेद जहर’ का कारोबार

धनबाद, आसनसोल, कोलकाता और ओडिशा से रांची पहुंच रहा ब्राउन शुगर

814

Ranchi: राजधानी पुलिस की सख्ती के बाद भी रांची में ब्राउन शुगर का कारोबार रुकने का नाम नहीं ले रहा है. धनबाद आसनसोल, कोलकाता और ओडिशा से बड़े पैमाने पर रांची में ब्राउन शुगर की सप्लाई हो रही है.

इस ‘सफेद जहर’ के काले कारोबार से युवा पीढ़ी इसकी चपेट में आ रही है. स्कूल और कॉलेज के बाहर ब्राउन शुगर की बिक्री हो रही है.

पुलिस ड्रग्स तस्करों पर नकेल कसने की लगातार कोशिश में है. पिछले दिनों कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया. बावजूद इसके ब्राउन शुगर का कारोबार रुकने का नाम नहीं ले रहा है.

hosp3

इसे भी पढ़ेंःधनबादः पिस्टल और गांजा के साथ दो अपराधी गिरफ्तार

घर तक पहुंचाते हैं ड्रग्स

हाल के दिनों में गिरफ्तार हुए ड्रग्स तस्करों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला कि ब्राउन शुगर का मुख्य सप्लायर कई बड़े घरों के लड़के के संपर्क में रहते हैं. और उनके घरों तक इसे पहुंचाने का काम करते हैं. इसके एवज में उन्हें मोटी रकम भी मिलती है.

बताया जा रहा है कि ब्राउन शुगर के एक पुड़िये की कीमत करीब 5000 रुपये है. इन पड़ियों को छोटे-छोटे कागजों में लपेटकर छोटे एजेंट ब्राउन शुगर को बेचने का काम करते हैं.

धंधेबाजों ने कोड वर्ड में दिया है नाम

रांची में ब्राइन शुगर की बिक्री के लिए धंधेबाजों ने कोड वर्ड में नाम दे रखा है. कहीं इसे बीएस तो कहीं चीनी बोलकर इसकी बिक्री और इस्तेमाल हो रहा है.

इसे भी पढ़ेंः बाकी है पूरी गर्मी-झेलना होगा बिजली संकट, सिकिदिरी हाइडल प्लांट के लिये पानी ही नहीं

ब्राउन शुगर के धंधेबाज इसे पुड़िया पैकेट में नहीं बल्कि नोट में मोड़कर बेच रहे हैं. मुड़े नोट पर ही ब्राउन शुगर को जलाकर नशा किया जाता है. इससे न तो इसकी तस्करी पुलिस पकड़ पा रही, ना ही कॉलेज प्रबंधन को इसकी जानकारी मिल रही है.

पांच और दस के नोट में ब्राउन शुगर को जलाकर नशा कर रहे युवा

ब्राउन शुगर के नशे के लिए पांच और दस के नोट बंडलों में हर दिन जलाए जा रहे हैं. नशेड़ियों और ब्राउन शुगर के धंधेबाजों को कटे-फटे नोट बदली करने वाले वेंडर ऐसे नोट मुहैया करा रहे हैं. नोट में भी मोटे कमीशन का खेल चल रहा है. 100 रुपये के नोट के लिए 120 से 150 रुपये तक की वसूली की जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः ‘राहुल गांधी की सरकार आयेगी तब ही दे पाऊंगा पत्नी को गुजारा भत्ता’

इन इलाकों में होती है बिक्री

हिंदपीढ़ी क्षेत्र के कॉलेज, डोरंडा क्षेत्र के कॉलेज, लोअर बाजार क्षेत्र के दो कॉलेजों, लालपुर क्षेत्र के कॉलेज, धुर्वा क्षेत्र के स्कूल, अरगोड़ा क्षेत्र के स्कूलों के आसपास के अलावा रांची रेलवे स्टेशन के समीप, लोअर चुटिया, तिरिल तालाब, मधुकम, हटिया, डोरंडा, हातमा बस्ती, किशोरगंज, पुरुलिया रोड, कर्बला चौक, मोरहाबादी मैदान, हरमू पुल सहित कई इलाकों में ब्राउन शुगर की बिक्री हो रही है.

हाल के दिनों ने गिरफ्तार हुए ब्राउन शुगर तस्कर

27 मार्च 2019- ब्राउन शुगर की तस्करी करने वाले तीन लोगों को अरगोड़ा थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया. अरगोड़ा थाना क्षेत्र के सहजानंद चौक के पास से तीनों को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने इनके पास से 160 पुड़िया ब्राउन शुगर बरामद किया था.

18 जनवरी 2019- लोअर बाजार थाने की पुलिस ने ब्राउन शुगर बेचने के आरोपित बबलू उर्फ कयामत को दबोच लिया है. पुलिस ने आरोपित कयामत को उस समय पकड़ा है,जब वह कांटाटोली एनी हाइट बिल्डिंग के पास ब्राउन शुगर बेच रहा था. तलाशी के दौरान पुलिस ने आरोपित के पास से 70 पुड़िया ब्राउन शुगर बरामद किया है.

11 मई 2018- लोअर बाजार थाना की पुलिस ने 21 पुड़िया ब्राउन शुगर के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया गया था.

इसे भी पढ़ेंः50 फीसदी वीवीपैट मिलान पर चुनाव आयोग का जवाबः छह दिन लेट हो जायेगा इलेक्शन रिजल्ट

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: