न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जनता ने खदेड़ा, तो भाजपा सांसद लिखने लगे स्कूल मर्जर पर प्रेमपत्र : झाविमो

506

Ranchi : झारखंड विकास मोर्चा के केंद्रीय प्रवक्ता योगेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि 2019 चुनाव की सुगबुगाहट के साथ ही अब तक हनीमून मोड पर रहे भाजपाइयों ने फिर अपना तमाशा प्रारंभ कर दिया है. स्कूल मर्जर के खिलाफ जब जनता ने भाजपा सांसदों को क्षेत्र से खदेड़ना शुरू किया है, तब झारखंड के भाजपा सांसद अपनी ही सरकार को प्रेमपत्र लिखकर अविलंब इस फैसले पर विराम लगाने की मांग करने लगे हैं. प्रेमपत्र इसलिए, क्योंकि यह महज आईवॉश के सिवा कुछ नहीं है. इन्हें जनमुद्दों से कोई सरोकार नहीं है. अब झारखंड में सरकार कैसे चलायी जा रही है, सांसदों द्वारा अपनी ही सरकार को पत्र लिखे जाने की घटना से साफ समझा जा सकता है. सरकार अपने ही सांसद को विश्वास में नहीं ले पा रही है. विपक्ष की बात तो छोड़ ही दीजिये, उनके अपने सांसदों को सार्वजनिक रूप से पत्राचार कर अपना दर्द बयां करना पड़़ रहा है. वह भी एक-दो सांसद नहीं, बल्कि राज्य के सभी सांसदों को एक साथ आकर अपनी बात कहनी पड़ रही है, ताकि शायद तब कहीं उनकी बात सरकार सुन ले. संभव है कि सत्तापक्ष के विधायक भी जल्द ही ऐसी ही कोई नौटंकी करें.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- स्कूल बंद करो और शराब की दुकान खोलो, यही है रघुवर सरकार की नीति : झामुमो

स्कूल मर्जर के खिलाफ राज्यव्यापी आंदोलन करेगा झाविमो

Related Posts

जेजेएमपी ने किया 21 जुलाई को झारखंड बंद का एलान

लातेहार जिले में सक्रिय किसी उग्रवादी संगठन ने लंबे समय बाद बंद बुलाया है.

योगेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि वैसे विपक्ष के अच्छे सुझाव भी तो सरकार को नागवार ही गुजरते हैं. झाविमो विधायक प्रदीप यादव ने इस मसले पर आगाह करते हुए मॉनसून सत्र में ही स्कूल मर्जर पर कार्यस्थगन पेश किया था, जिसे अमान्य कर दिया गया. झाविमो ने पांच दिन पूर्व संपन्न अपनी कार्यसमिति की बैठक के दौरान भी स्कूल मर्जर को प्रमुख मुद्दा बनाते हुए इस पर राज्यव्यापी आंदोलन करने का निर्णय लिया है. बाबूलाल मरांडी भी एतराज जता चुके हैं कि यह ऐसी अनोखी सरकार है, जो शराब की दुकान खुलवा रही है और स्कूलों को बंद करवा रही है. झाविमो इस आंदोलन को लेकर प्रारंभ से ही मुखर रही है. जब तक सरकार फैसला नहीं बदलती है, आंदोलन जारी रहेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: