JharkhandKhas-KhabarNationalNEWSRanchi

जब पीएम के प्रोग्राम के पहले पूजा मैडम ने अफसर से पूछा – वेयर आर द असर गर्ल्स

Anand Kumar

Sanjeevani

Ranchi : जब तक इंसान के पास पद, पावर और पैसा रहता है, उसकी जय-जयकार होती है. लोग उसके डर से थरथराते हैं और उसकी नजरे इनायत पाने को बेताब रहते हैं. लेकिन जैसे ही उसके सितारे गर्दिश में आते हैं, उसकी दबी-छिपी कहानियां भी अनायास चर्चा का विषय बन जाती हैं. झारखंड कैडर की आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के इडी जांच के दायरे में आने के बाद उनकी भी कहानियां चटखारे लेकर सुनायी जा रही हैं. रघुवर दास से हेमंत सोरेन तक सरकार के सारे बड़े आयोजनों का दारोमदार संभालनेवाली पूजा सिंघल के प्रधानमंत्री के एक कार्यक्रम के दौरान इवेंट मैनेटमेंट से जुड़ा एक रोचक वाकया है. यह किस्सा एक ऐसे अधिकारी ने सुनाया, जो उस आयोजन में शामिल रहा था.

MDLM

उक्त अधिकारी के अनुसार वाकया पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय का है, जब रघुवर दास मुख्यमंत्री थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक जिले में दौरा होना था. दौरे से एक दिन पहले मैडम पूजा सिंघल हजारीबाग आयीं. उनके साथ पूरी टीम थी, जिसमें टेंट हाउस मालिक, कैटरिंगवाला, डेकोरेशनवाला, साउंड और माइक वाला आदि-आदि शामिल थे. कार्यक्रम स्थल पर पहुंच कर मैडम ने मुआयना किया और आवश्यक निर्देश देने के बाद  एक स्थानीय अधिकारी से मुखातिब हुईं. लगभग डपटनेवाले अंदाज में उन्होंने पूछा –  “वेयर आर द असर गर्ल्स”. अधिकारी बेचारा सकपका गया. उसने असर गर्ल्स के बारे में कभी सुना ही नहीं था. फिर उसने सहमते हुए पूछ ही डाला कि मैडम असर गर्ल्स का क्या मतलब होता है. इसपर मैडम ने पूछा कि पीएम साहब को स्वागत में गुलदस्ता आदि कौन देगा. इस पर अधिकारी ने उन्हें बताया कि उन्होंने स्थानीय कॉलेज के प्राचार्य को पांच छात्राओं को भेजने को कहा है. इसपर मैडम ने भड़कते हुए कहा कि अजीब बात करते हो. दे आर नॉट प्रोफेशनल्स. गड़बड़ हो जायेगी, तो आप जिम्मेवार होंगे. स्टेट गवर्नमेंट पीएमओ को क्या जवाब देगी. डांट सुनने के बाद अधिकारी ने एक परिचित महिला अफसर को फोन लगाया कि ये असर गर्ल्स क्या बला है. इस पर उन्होंने छूटते ही पूछा कि पूजा मैडम ने कहा है क्या. अधिकारी के हामी भरने पर उन्होंने कहा कि घबराओ मत मैं भेज देती हूं.

रांची से गाड़ी से सात लड़कियां हजारीबाग भेजी गयीं. वे दो दिन वहां रहीं. प्रति लड़की दो हजार रुपये प्रतिदिन की दर से उन्हें कुल 28 हजार रुपये का भुगतान किया गया. हजारीबाग के जिस होटल में उन लड़कियों को ठहराया गया था, वहां इन सात लड़कियों ने एक दिन में 68 हजार रुपये का खाने-पीने बिल बना डाला. बिल देख कर हैरान हुए अधिकारी ने होटलवाले से पूछा तो उसने बताया कि उन लड़कियों ने खाने में रोटी-चावल का नाम तक नहीं लिया. होटल में चेकइन के साथ शराब, बियर, सिगरेट और चिकन का जो सिलसिला शुरू हुआस वह देर रात तक चला.  उसी होटल में पीएम का कार्यक्रम कवर करने दिल्ली से आये दूरदर्शन संवाददाता भी ठहरे थे. उन्होंने भी अगले दिन कई लोगों से इन लड़कियों द्वारा रात भर हंगामा किये जाने की शिकायत की थी.

सरकार के किसी बड़े कार्यक्रम के मंच पर जब पूजा मैडम यह सवाल करतीं कि – वेयर आर द असर गर्ल्स, तो डीसी से लेकर तमाम अधिकारियों की पेशानी पर पसीने की बूंदें चुहचुहा आती थीं. समय का फेर देखिये. आज पूजा सिंघल कोर्ट के आदेश पर इडी के रिमांड में हैं. इडी के अधिकारी उनसे सवाल पर सवाल दागे जा रहे हैं. उन पर पूजा मैडम के आइएएस होने का कोई असर नहीं दिख रहा है.

इसे भी पढ़ें – पूजा सिंघल तत्काल प्रभाव से निलंबित, सरावगी बिल्डर्स के ठिकानों पर इडी के छापे

Related Articles

Back to top button