National

जब मैंने मोदी को गले लगाया तो मेरी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को पसंद नहीं आया: राहुल

NewDelhi: चार दिन के ब्रिटेन और जर्मनी के दौरे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को जर्मनी पहुंचे. हैम्बर्ग स्थित बूसेरियस समर स्कूल में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने संसद में प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने का राज खोला. राहुल गांधी ने कहा कि मैंने उनको गले लगाकर नफरत का जवाब प्यार से दिया है.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह लोकसभाः 2500 परिवारों से रोजगार छिन गया, मजदूरों के साथ भी हुआ अन्याय, पार्टी कार्यकर्ता भी हुए नाराज

advt

हालांकि, इस दौरान उन्होंने ये भी स्वीकार किया कि संसद में जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाया था, तो उनकी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को यह पसंद नहीं आया था. साथ ही कहा कि सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में लोगों को नफरत के बजाय चर्चा करनी चाहिए. घृणा से इसका जवाब देना मूर्खता है, यह किसी भी समस्या का समाधान नहीं करेगा.

मोदी सरकार पर तीखा हमला

अपने संबोधन के दौरान उन्होंने जहां एक ओर मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला, तो दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय राजनीति पर अपने विचार रखे. इस बीच उन्होंने श्रोताओं के सवालों के जवाब भी दिए. जर्मनी के हैम्बर्ग में अपने संबोधन में गांधी ने यह भी कहा कि भारत में नौकरी की बड़ी समस्या है, लेकिन प्रधानमंत्री इसे नहीं देखना चाहते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘समस्या का समाधान करने के लिये आपको उसे स्वीकार करना होगा.’’

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह लोकसभा सीट : बीते पांच साल में बंद हुए चार बड़े कोल प्रोजेक्ट, नहीं शुरू हो सकी डीसी लाइन

नोटबंदी के कारण लिंचिंग

इस दौरान राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी मोदी सरकार पर प्रहार किया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी ने एमएसएमई के नकद प्रवाह को बर्बाद कर दिया और अनौपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले लाखों लोग बेरोजगार हो गए. राहुल ने कहा कि नोटबंदी के कारण बड़ी संख्या में छोटे व्यवसायों में काम करने वाले लोगों को वापस अपने गांव लौटने को विवश होना पड़ा. लिंचिंग के बारे में जो कुछ भी हम सुनते हैं, वो इसी का परिणाम है.

इसे भी पढ़ेंः हेहल अंचल में 113.38 एकड़ गैरमजरुआ जमीन का घोटला, अधिकारियों की मिली भगत से हुआ खेल

इस दौरान राहुल गांधी ने भारत और पिछले 70 वर्षों में उसकी प्रगति के बारे में भी बोला. राहुल गांधी ने अपने दिवंगत पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों के बारे में भी बोला. उन्होंने कहा, ‘जब मैंने श्रीलंका में अपने पिता के हत्यारे को मृत पड़ा देखा तो मुझे अच्छा नहीं लगा. मैंने उसमें उसके रोते हुए बच्चों को देखा.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: