lok sabha election 2019

मांडू विधायक को जो भी मिला, उनके बाप-दादा की बदौलत, उनकी अपनी कोई योग्यता नहीं: जेएमएम

विज्ञापन

Ranchi: एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में चुनाव प्रचार करने के मांडू विधायक जयप्रकाश भाई पटेल की घोषणा पर झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने कहा है कि उन्हें उनकी औकात से कुछ ज्यादा और समय से बहुत पहले ही बहुत कुछ मिल गया है. बीजेपी पर निशाना साधते हुए पार्टी महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि आरजेडी से उम्मीदवार लेने के बाद अब बीजेपी ने चुनाव प्रचार के लिए एक भटके हुए युवा को अपने दल में शामिल कर लिया है. बुधवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में बांग्ला की एक कहावत का जिक्र कर कहा कि चींटी को जब पंख निकल जाता है, तो उसका अंत भी बहुत जल्द हो जाता है. मांडू की जनता का जो आशीर्वाद उन्हें मिला था, उसके साथ उन्होंने विश्वासघात किया है. अगर उनमें ताकत है कि किसी भी दल को ज्वाइन कर गिरिडीह से चुनाव लड़ कर देख लें. सुप्रियो भट्टाचार्य ने यहां तक कह दिया कि अबतक इन्हें जो भी मिला है, वह उनके बाप दादा के किये कर्म और पार्टी के प्रति सम्मान से मिला है. उनकी योग्यता कुछ नहीं थी. इस दौरान उन्होंने और बहरागोड़ा विधायक कुणाल षाड़ंगी ने पीएम के रांची में हुए रोड शो और लोहरदगा में हुई जनसभा को लेकर भी तंज कसा.

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – पलामू संसदीय सीट: महागठबंधन दिख रहा एकजुट, एनडीए में है बिखराव

advt

“लहर नहीं ललकार है, मोदी सरकार बेकार है” बनी जनता की आवाज

लोहरदगा की जनसभा पर तंज कसते हुए पार्टी महासचिव ने कहा कि सभा में पड़ी खाली कुर्सियों पर वे जनसैलाब उमड़ने की बात करते हैं. वे कहते हैं कि यह लहर नहीं ललकार है. उसी बीच उपस्थित जनता में से एक व्यक्ति ने कहा कि यह लहर नहीं ललकार है, मोदी सरकार बेकार है. ठीक इसी तरह की स्थिति मंगलवार को पीएम के रोड शो में भी देखने को मिली थी. जनता की इस आवाज से पीएम के चेहरा की भंगिमाएं पूरी तरह से बदल गयी हैं. राजभवन में रात्रि विश्राम के दौरान उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ उनका मंथन इसका साफ संकेत देता है. मंथन में इस बात का जिक्र हुआ कि चुनाव बाद पार्टी की स्थिति क्या होने वाली है. सुप्रियो ने यहां तक कहा कि धरती आबा बिरसा मुंडा के माल्यार्पण के पहले एसपीजी ने उनकी मूर्ति का स्कैन किया. बिरसा मुंडा केवल प्रतिमा नहीं, बल्कि झारखंड का प्रतीक हैं. मूर्ति की जांच कर पीएम मोदी ने अपने डर को उजागर कर दिया है.

इसे भी पढ़ें – पहले अवैध कोयला कारोबारियों की टीम देती थी पुलिस को रुपये, अब साहब सबसे अलग-अलग ले रहे एक करोड़

मुख्य शहर में करते रोड शो, जनता के गुस्सा का होता एहसास: कुणाल षाड़ंगी

विधायक कुणाल षाड़ंगी ने पीएम के रोड शो पर कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता जोर-शोर से प्रचार कर रहे थे कि रांची का उनका रोड शो ऐतिहासिक होगा. लेकिन यह शो तो एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक सिमट कर रह गया. उन्हें पता था कि अगर मुख्य शहर में वे शो करते, तब उन्हें जनता के गुस्सा का एहसास होता. यही कारण है कि ऐन वक्त में उनके शो में फेरबदल किया गया. रघुवर दास के कार्यकाल पर कुणाल ने कहा कि बिरसा मुंडा पर माल्यार्पण का ढोंग करनेवाली इसी सरकार ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन किया. विकास पुरुष का दावा करनेवाले सीएम रघुवर दास को जनता को यह बताना चाहिए कि बड़ी संख्या में स्कूलों का विलय, मोमेंटम झारखंड और हरमू नदी के सौंदर्यीकरण के बहाने करोड़ रुपये लूटने, स्कूल और हॉस्पिटल के आसपास शराब दुकान खोलने की पहल क्या उनकी नजर में विकास का मापदंड है.

इसे भी पढ़ें – साध्वी प्रज्ञा को राहत, एनआईए कोर्ट ने  चुनाव लड़ने से रोकने वाली याचिका खारिज की

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button