न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सांसद सुशील सिंह के वायरल फोटो का क्या है सच !

1,572

Dhanbad: बिहार औरंगाबाद के भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह, संजीव सिंह के करीबी रंजय सिंह हत्याकांड के मास्टर माइंड हर्ष सिंह के साथ झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिले हैं. एक वायरल फोटो से यह बात स्थापित करने की कोशिश की जाती है. यहां तक कहा जाता है कि झरिया विधानसभा क्षेत्र से अगले चुनाव में संजीव सिंह की जगह हर्ष सिंह को भाजपा का टिकट दिलाने की तैयारी थी.

किसी ने कहा कि मुख्यमंत्री से मिलने का यह कार्यक्रम रंजय सिंह हत्याकांड से पहले का था. किसी ने कहा कि यह मीटिंग पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह सहित चार लोगों की हत्या के बाद हुई. सांसद सुशील सिंह, नीरज हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग को लेकर उनसे मिले थे. तब हर्ष सिंह का नाम रंजय हत्याकांड में नहीं आया था. यह बता दें कि रंजय सिंह की हत्या के मामले में चल रही जांच और कार्रवाई पर सिंह मेंशन के लोग अंगुली उठा रहे हैं.

सांसद सुशील सिंह के मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ ताजा वायरल फोटो से इतना तो स्पष्ट होता है कि विधायक संजीव सिंह से जुड़े लोगों को मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनसे गहरा संबंध रखनेवाले लोगों पर षड्यंत्र रचने का शक है. शक है कि सांसद सुशील सिंह के साथ हर्ष सिंह और मुख्यमंत्री रघुवर दास की तस्वीर वायरल करने के पीछे संजीव से नजदीक संबंध रखनेवाले लोग हैं. फोटो यह सिद्ध करने के लिए है कि भाजपा सांसद सुशील सिंह जो हर्ष सिंह के फूफा हैं, उनका मुख्यमंत्री रघुवर दास से अलग तरह का रिश्ता है. इस फोटो से सिद्ध होता है कि यह रिश्ता भाजपा में संजीव सिंह की स्थिति कमजोर कर रहा है. संजीव के करीबी रंजय सिंह की हत्या की जांच भी इसी संबंध से प्रभावित की जा रही है.

रंजय सिंह की पत्नी रूमी सिंह ने स्पष्ट कहा है कि मामले में एकलव्य सिंह से कड़ाई से पूछताछ होनी चाहिए. रंजय हत्याकांड का एक अन्य अभियुक्त नंदकिशोर उर्फ मामा ने बताया भी है कि उसे हर्ष सिंह ने रघुकूल में ही रंजय की हत्या के लिए हथियार दिया. पुलिस के मुताबिक, नीरज सिंह सहित चार लोगों की हत्या रंजय सिंह की हत्या का बदला लेने के लिए की गयी. इस पर सवाल है तब रंजय हत्या में रघुकूल के लोगों का नाम क्यों नहीं शामिल किया गया. संजीव समर्थक यहां तक कहते हैं कि हर्ष का सरेंडर, उससे पूछताछ और रंजय हत्याकांड में कार्रवाई सब नाटक है. धनबाद के मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल और डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह के बीच पहले छत्तीस का रिश्ता था.

अब दोनों के बीच मधुर संबंध को भी भाजपा में विधायक संजीव सिंह के खिलाफ षड्यंत्र का हिस्सा बताया जा रहा है. ऐसे माहौल में सांसद सुशील सिंह, हर्ष सिंह और मुख्यमंत्री का फोटो वायरल होना चौंकाता है.
इस फोटो की सत्यता कोई प्रमाणित नहीं कर रहा है. सांसद सुशील कुमार सिंह से इस संबंध में 15 दिसंबर की शाम करीब चार बजे न्यूज विंग संवाददाता ने बात की. उन्हें वायरल फोटो और उस पर आधारित प्रकाशित खबर के बारे में पूछा.

उन्होंने मीटिंग में होने की बात कही. रविवार को उन्हें मैसेज भेजकर पूछा कि क्या वायरल तस्वीर से संबंधित प्रकाशित खबर की पुष्टि करते हैं. वायरल फोटो में चाहे सच्चाई हो या नहीं. सुशील सिंह के साथ जिनको बैठा दिखाया गया है वह हर्ष है या नहीं, इसे लेकर भी संशय है. फोटो, फोटोशाप्ड ही क्यों न हो पर इसे वायरल करने के पीछे कुछ बड़ी बात तो है ही.

इसे भी पढ़ेंःअब राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को आइएएस की तर्ज पर मिलेगी ट्रेनिंग, एटीआइ करेगा मूल्यांकन

इसे भी पढ़ेंः कोबरा बटालियन के साथ घूमता है 10 लाख का वांटेड उग्रवादी पप्पू लोहरा व 5 लाख का इनामी सुशील उरांव (देखें एक्सक्लूसिव तस्वीरें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: