BusinessLead NewsNationalOFFBEATWorld

क्या हो अगर middle east में ख़त्म हो जाए पेट्रोलियम और भारत में पानी ?

Shivam Krishna

Ranchi : बात पेट्रोलियम की हो तो मध्य पूर्व के देशों से ज्यादा निर्यात करने की क्षमता किसी देश की नहीं है. पेट्रोलियम का एक तिहाई निर्यात इन मध्य पूर्व देशों से होता है.अगर फोर्ब्स द्वारा किये गए 2018 के एक आंकलन की बात करें तो उत्पादन के सन्दर्भ में कुछ ये आंकड़े सामने आते हैं.

  • Saudi Arabia – 12.3 million barrels per day (BPD)
  • Iran – 4.7 million BPD
  • Iraq – 4.6 million BPD
  • United Arab Emirates (UAE) – 3.9 million BPD
  • Kuwait – 3.0 million BPD
  • Qater – 1.9 million BPD

अगर उसी आंकलन में संयुक्त राष्ट्र (U.S) के पेट्रोलियम उत्पादन की बात करें तो एक दिन में अमेरिका 15.3 मिलियन बर्रेल्स उत्पादित करता है जो की Iran, Iraq aur UAE के जोड़ से भी ज्यादा है, 2008 से ही अमेरिका पेट्रोलियम के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर है.

advt

पेट्रोलियम के आभाव में क्या होगा middle east का हश्र

मध्य पूर्व की 2 trillion की इकॉनमी का स्तंभ है इसका पेट्रोलियम उत्पादन. घटते पेट्रोलियम के स्तर से ये अनुमान सामने आ रही है की आने वाले पंद्रह वर्षों में middle east पेट्रोलियम की कमी से जूझेगा और तबतक इलेक्ट्रॉनिक कार और इलेक्ट्रिक उपकरण इसकी कमी को पूरी करेंगे. लिहाज़ा ये मध्य पूर्व देशों को राजनितिक और आर्थिक रूप से कमज़ोर कर देगा.

इसे भी पढ़ें :हाइकोर्ट ने अधिकारियों का लगायी फटकार, कहा- जलस्रोतों पर अतिक्रमण नहीं हटाया, तो क्या किया

भारत में घटता भूजल स्तर का मसला

बढती आबादी और औद्योगीकरण का दुस्प्रभाव जितना वातावरण को झेलना पड़ रहा है उतना ही हमारे प्राकृतिक संसाधनों पर भी पड़ रहा है. एक आंकलन की बात करें तो आने वाले दो वर्षों में भारत के कुछ राज्यों में भूमिगत जल का स्तर इतना नीचे चला जाएगा की वह पानी पीने लायक नहीं रहेगा. इन राज्यों में दिल्ली समेत कई अन्य राज्य शामिल हैं.

इसका हर्जाना भारत की बढती आबादी और नए औद्योगों पर भी पड़ेगा. कई राज्य पानी बाहर से मंगाने को विवश हो जायेंगे. देश की नदियों और बांधों पर निर्भरता और बढ़ जायेगी. खेती पर भी इसका काफी प्रभाव पड़ेगा और फल और सब्जियां समेत सारे अनाजों के दाम भी काफी बढ़ेंगे.

इसे भी पढ़ें :अब अफीम नहीं, लेमनग्रास की खेती से बदलेगा ग्रामीणों का जीवन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: