न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आखिर किस डर से तैयार हुआ पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को छोड़ने के लिए

पी 5 में से कोई भी देश उसके साथ खड़ा नहीं हुआ. \यहां तक कि यूएई ने भी पाकिस्तान को उस मांग के लिए डांट पिलाई, जिसमें कहा गया था कि ओआईसी द्वारा भारत को दिया न्योता वापस लिया जाये.

496

NewDelhi :  पाकिस्तान भारतीय वायु सेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को छोड़ने के लिए आखिर तैयार क्यों हो गया. जान लें कि इस घटना के बाद पाकिस्तान खुद को अलग-थलग महसूस कर रहा था.पी 5 में से कोई भी देश उसके साथ खड़ा नहीं हुआ. उनमें से कई ने पाकिस्तान को आतंकवादियों के खिलाफ ऐक्शन लेने के लिए कहा. यहां तक कि यूएई ने भी पाकिस्तान को उस मांग के लिए डांट पिलाई, जिसमें कहा गया था कि ओआईसी द्वारा भारत को दिया न्योता वापस लिया जाये.  अमेरिका, अन्य पी 5 देश, यूरोपीय यूनियन, सऊद अरब और यूएई ने पाक का साथ नहीं दिया इसके बाद पाकिस्तान के पास कोई विकल्प नहीं बचा. बता दें कि भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ने के दौरान दुर्भाग्यवश अभिनंदन का प्लेन पाक अधिकृत कश्मीर में क्रैश हो गया, जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें बंदी बना लिया था.  जानकारों के अनुसार यह कूटनीतिक कोशिशों का असर था कि पाकिस्तान अभिनंदन वर्धमान को छोड़ने के विवश हो गया.

पाकिस्तान ने दुनिया के अहम देशों के वार्ताकारों से बात की

खबरों के अनुसार पाकिस्तान ने अभिनंदन को अपने कब्जे में करने के बाद दुनिया के अहम देशों के वार्ताकारों से बात की. इनमें पी 5 देशों के वार्ताकार भी शामिल थे. इन देशों के वार्ताकारों को बताया गया कि भारत सरकार तीन तरह से आक्रामक जवाब देने की तैयारी कर रही है. नेवी के जंगी बेड़ों को कराची की ओर भेजा गया है. बलिस्टिक मिसाइलों के लॉन्च की योजना बनायी गयी है. भारत और पाक सीमा पर सैन्य टुकड़ियों का जमावड़ा बढ़ गया है. इस सूचना की गंभीरता को देखते हुए इन विदेशी सरकारों ने तुंरत भारत से बात की.  सूत्रों के अनुसार भारत की ओर से इन खबरों को काल्पनिक बताया गया. जानकारी दी कि भारतीय जंगी बेड़े कराची से दूर दिशा की ओर जा रहे हैं.  भारत ने कहा कि इस देशों के पास आसमान से इन तरह के मूवमेंट को भांपने की क्षमता है, इसलिए वे खुद पाकिस्तान के इन दावों का पता लगा सकते हैं;  भारत ने यह साफ कर दिया कि वह टकराव बढ़ाने की दिशा में नहीं सोच रहा.  उसने तो पाकिस्तान के अंदर असैन्य आतंक निरोधी कार्रवाई को अंजाम दिया है.  भारत ने कहा कि  पाकिस्तान ने उसके सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की है.

20 पाकिस्तानी एयरक्राफ्ट भारतीय सैन्य चौकियों की ओर बढ़े

इस क्रम  में भारत ने अंतरराष्ट्रीय वार्ताकारों को बताया कि कम से कम 20 पाकिस्तानी एयरक्राफ्ट भारतीय सैन्य चौकियों की ओर बढ़े और लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया.  उन्होंने कुछ लेसर गाइडेड मिसाइलें फायर की. पाकिस्तान के दावों के उलट इन मिसाइलों के हमले से हमारे सैन्य प्रतिष्ठान बाल बाल बच गये. इसके बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान को यह संदेश दिया कि उसने इसे आक्रामक कार्रवाई के तौर पर लिया है. पाकिस्तानी पीएम इमरान खान और पाक सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने गलत दावा किया कि दो भारतीय फाइटर प्लेन मार गिराये गये और दो पायलट पकड़े गये. इन दावों से पाकिस्तान की विश्वसनीयता पर असर पड़ा.

अगर पायलट को नुकसान पहुंचा या उसे नहीं छोड़ा गया तो गंभीर नतीजे होंगे

भारत ने इन विदेशी सरकारों को बताया कि या तो इमरान खान को शुरुआत में सेना ने असली नुकसान के बारे में नहीं बताया या वह झूठे दावे कर रहे थे. भारत ने यह साफ नहीं किया कि वह इस हमले का जवाब देने का विचार कर रहा है या नहीं. उस हमले का, जिसमें एक मिग एयरक्राफ्ट को मार गिराया गया था.  भारत ने यह जिम्मेदारी पाकिस्तान के पाले में डाल दी कि वह तनाव कम करना चाहता है कि नहीं. सूत्रों के अनुसार भारत ने मैसेज दिया कि यह पाकिस्तान की जिम्मेदारी है कि वो जिनेवा समझौते के तहत पायलट से बर्ताव करे और उसकी वापसी सुनिश्चित करे.  साथ ही भारत ने यह भी साफ कर दिया कि पायलट को छोड़ने के बदले कोई डील नहीं की जायेगी.

भारत ने यह भी जता दिया कि अगर पायलट को नुकसान पहुंचा या उसे नहीं छोड़ा गया तो गंभीर नतीजे होंगे. शाम को भारत की तीनों सेवाओं के प्रमुख साथ आये और कहा कि वे पूरी तरह से तैयार हैं,  लेकिन किसी अन्य हमले से पहले टकराव को नहीं बढ़ायेंगे. भारतीय सेना  पाकिस्तान सहित  इंटरनैशनल समुदाय को मैसेज दे दिया था

Whmart 3/3 – 2/4
इसे भी पढ़ें :   पाकिस्तान में है मसूद अजहर लेकिन इतना बीमार है कि घर से भी नहीं निकल सकता- कुरैशी

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like