Sports

‘कैप्टन कूल’ के नाम जाने जानेवाले धोनी के बारे में पूर्व क्रिकेटर गंभीर और इरफान ने आखिर क्या कहा

Mumbai: दुनिया उन्हें ‘कैप्टेन कूल’ के नाम से जानती है लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के साथ खेलने वाले पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि यह पूर्व भारतीय कप्तान भी इंसान है और उन्होंने भी कुछ अवसरों पर मैदान पर अपना आपा खोया है.

धोनी का 2017 में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय मैच के दौरान चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव पर चिल्लाना काफी चर्चित रहा था जबकि इंडियन प्रीमियर लीग में भी प्रशंसकों ने कुछ अवसरों पर उन्हें अपना आपा खोते हुए देखा लेकिन पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और इरफान पठान ने कहा कि यह विकेटकीपर बल्लेबाज पूर्व में कुछ अवसरों पर अंतरराष्ट्रीय मैचों के दौरान आपा खो बैठा था.
इसे भी पढ़ेंः#Dhullu तेरे कारण : रघुवर राज में बाघमारा में बढ़ी विधायक ढुल्लू महतो की मनमानी, एफआइआर करने से भी परहेज करती रही पुलिस

धोनी ने भी खोया है आपा लेकिन मेरी तुलना में बेहद कूल है- गंभीर

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम क्रिकेट कनेक्टेड में कहा, ‘लोग कहते हैं कि उन्होंने कभी उन्हें (धोनी) अपना आपा खोते हुए नहीं देखा लेकिन मैंने दो बार ऐसा देखा है. यह विश्व कप 2007 और एक अन्य विश्व कप की बात है जब हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये थे.’

धोनी के साथ सभी तरह के क्रिकेट खेलने वाले इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘वह भी इंसान है और उसका प्रतिक्रिया देना स्वाभाविक है. यहां तक कि चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से किसी के खराब क्षेत्ररक्षण करने या कैच छोड़ने पर उनकी प्रतिक्रिया उचित है. हां वह कूल है. वह अन्य कप्तानों की तुलना में बेहद शांतचित है. निश्चित तौर पर मेरी तुलना में बेहद कूल है.’

इसे भी पढ़ेंः#Lockdown3.0 के बाद क्या खुले-क्या नहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने जनता और विशेषज्ञों से मांगें सुझाव

…जब ऑउट दिये जाने पर नाराज हुए थे माही

पूर्व भारतीय आलराउंडर इरफान पठान ने 2006-07 की घटना को याद किया जब अभ्यास के दौरान धोनी आउट दिये जाने पर नाराज हो गये थे.

पठान ने कहा, ‘हमने वार्म अप के दौरान एक मैच खेला था जिसमें दायें हाथ के बल्लेबाजों को बायें हाथ से और बायें हाथ के बल्लेबाजों को दायें हाथ से बल्लेबाजी करनी थी. इसके बाद हमें नेट अभ्यास करना था. वार्म अप के दौरान हमने दो टीमें बनायी. धोनी को आउट दिया गया जबकि उन्हें लगा कि वह आउट नहीं हैं. उन्होंने अपना बल्ला फेंक दिया और ड्रेसिंग रूम में चले गये और अभ्यास के लिये भी देर से आये. इसलिए गुस्सा उन्हें भी आता है.’

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने धोनी को अपने खेल से ‘दर्शकों का मनोरंजन करने वाला खिलाड़ी’ करार दिया और कहा कि ऐसे बहुत कम अवसर आये होंगे जबकि उन्होंने अपना आपा खोया होगा.

ली ने कहा, ‘हम अपने खेल से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले खिलाड़ी चाहते हैं और धोनी ऐसा करते हैं. उन्होंने कभी सीमाएं नहीं लांघी. अगर ऐसा हुआ होगा तो ऐसा बहुत कम हुआ होगा. लेकिन हम भी इंसान हैं जैसे गौतम गंभीर ने कहा.’

धोनी ने आइपीएल के दौरान कुछ अवसरों पर मैदान पर खुलकर अपना गुस्सा दिखाया. आईपीएल 2019 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 19वें ओवर में दीपक चाहर के लगातार दो नोबॉल करने पर धोनी गुस्से में थे. इसके बाद जयपुर में तो जब स्क्वायर लेग अंपायर ने नोबॉल का फैसला पलट दिया तो वह डग आउट से मैदान पर अंपायर से बहस करने पहुंच गये थे.
इसे भी पढ़ेंःरेलवे बोला- स्पेशल ट्रेनों की अगले सात दिनों के लिए 16.15 करोड़ की 45,000 से अधिक टिकटें की गईं बुक

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close