West Bengal

#WestBengal: 12 घंटे में राज्य के विभिन्न हिस्सों में चक्रवाती तूफान की आशंका, एनडीआरएफ तैनात

Kolkata: पश्चिम बंगाल के समुद्र तटीय क्षेत्रों में आगामी 12 घंटे के दौरान भारी बारिश के साथ आंधी-तूफान की आशंका है. चक्रवाती हवाएं चलेंगी.

अलीपुर स्थित मौसम विभाग के क्षेत्रीय मुख्यालय ने रविवार को यह आशंका व्यक्त की है. इसकी सूचना राज्य सचिवालय नवान्न को भी दे दी गयी है जिसके बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने समुद्र से सटे सभी जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देशिका भेजकर आपदा प्रबंधन टीम (एनडीआरएफ) और प्रशासन को समन्वय बनाकर तटवर्ती क्षेत्रों में लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.

जो लोग झोपड़ियों और कच्चे मकानों में रहते हैं, उन्हें सुरक्षित ठिकाने पर हटाने को कहा गया है. बंगाल की खाड़ी पर बने निम्न दबाव के चक्रवाती अंफान तूफ़ान में बदलने की आशंका जताते हुए तटवर्ती इलाक़ों में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के दो इलाक़ों में तैनाती के लिए एनडीआरएफ़ की दो टीमें भेजने का अनुरोध किया है. एक टीम दक्षिण 24 परगना के सागरद्वीप में तैनात की जाएगी और दूसरी मेदिनीपुर के दीघा एवं काकद्वीप में.

कोलकाता के मौसम विभाग ने तूफ़ान के कारण तटवर्ती ज़िलों में भारी बारिश और तेज़ हवाएं चलने की चेतावनी दी है.

इसे भी पढ़ें – लातेहार:  परिवार के पास नहीं है राशन कार्ड, मां ने कहा निम्मी की मौत भूख से हुई, प्रशासन मौत की बीमारी बता रहा

क्या कहा है मौसम विभाग ने

क्षेत्रीय मौसम विभाग के निदेशक जी.के. दास ने बताया कि इस तूफ़ान के प्रभाव से सोमवार से ही राज्य के तटीय ज़िलों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है.

कम दबाव का क्षेत्र रविवार शाम तक भयंकर चक्रवात में बदल सकता है और यह उत्तर और उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ सकता है.

उन्होंने बताया कि इसके 18 से 20 मई के दौरान उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर बढ़ने और फिर पश्चिम बंगाल तट की ओर बढ़ने की संभावना है.

इसकी वजह से तटीय ज़िलों में 19 मई और 20 मई को भारी बारिश होने का अनुमान है. रविवार को कोलकाता में न्यूनतम तापमान 28.9 डिग्री सेल्सियस है जो सामान्य से 3 डिग्री ज्यादा है, जबकि अधिकतम तापमान 36.9 डिग्री सेल्सियस है जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown4: बंद रहेंगी मेट्रो और रेल सेवाएं, सामान्य हवाई यात्रा पर भी रोक, जानिए और क्या है नयी गाइडलाइन में

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close