West Bengal

#WestBengal सरकार स्कूली बच्चों को ‘गुड टच, बैड टच’ के बारे में देगी शिक्षा

विज्ञापन

Asansol : स्कूली बच्चों को यौन उत्पीड़न से बचाने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार पाठ्यक्रम में “गुड टच, बैड टच” (अच्छा स्पर्श, अश्लील स्पर्श) के बारे में पढ़ाने जा रही है.

राज्य शिक्षा विभाग की ओर से दी गयी जानकारी के मुताबिक मूल रूप से बच्चियों को इसके लिए जागरूक किया जायेगा. इसे जब बच्चे समझ सकें तो किसी के छूने पर वे लोगों के मनोभावों को समझने में सक्षम होंगे और यौन उत्पीड़न से बचेंगे.

शिक्षा विभाग की ओर से दी गयी जानकारी के मुताबिक भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) और एनजीओ चाइल्ड रिलीफ एंड यू (क्राई) भी अभियान में हिस्सा होंगे.

इसे भी पढ़ें : रघुवर दास ने कहा – उनकी सरकार पर दाग नहीं, सरयू राय ने कहा- रघुवर ‘दाग’ ने जो दाग लगाये उसे मोदी डिटर्जेंट व शाह लाउंड्री भी नहीं धो पायेंगे

छह जिलों से होगी शुरुआत

शुरुआत के लिए, यह अभियान छह जिलों- कोलकाता, उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, पश्चिम मेदिनीपुर और मालदा में फैले 300 स्कूलों में चार से 12 साल के बच्चों के लिए चलाया जायेगा.

अन्य स्कूलों को भी चरणबद्ध तरीके से कवर किया जायेगा. शिक्षकों, स्कूल स्टाफ और अभिभावकों को भी इस अभियान से जुड़े पहलुओं के बारे में जागरूक किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #JharkhandPolice की लापरवाहीः मृतक पर टेरर फंडिंग का केस, निर्दोष को भी जेल भेजने का आरोप

पाठ्यक्रम में क्या होगा?

पाठ्यक्रम के हिस्से के तौर पर बच्चों को उनके शरीर के बारे में बताया जायेगा. इसके लिए एक कृत्रिम शरीर तैयार होगा जिस पर शिक्षक शिक्षिकाएं छात्र-छात्राओं को उनके शरीर की संवेदनशीलता के बारे में बतायेंगे.

बच्चों को बताया जायेगा कि शरीर के कुछ ऐसे अंग हैं जो माता-पिता की उपस्थिति में केवल चिकित्सक छू सकते हैं. छूने का भी तरीका कैसा होना चाहिए, यह भी बताया जायेगा.

जरूरत पड़ने पर मदद के लिए चिल्लाना और बिना संकोच खुद को बचाने के उपायों के बारे में उन्हें जागरूक किया जायेगा.

अभिभावकों और शिक्षकों को यह बताया जायेगा कि वह कैसे कहानी के माध्यम से अपने बच्चों के साथ संवाद कर सकें.

कहानियों के जरिये होने वाले संवाद से यह जानने की कोशिश करें कि क्या उन्हें अनुचित तरीके से छुआ गया है, या किसी अन्य तरीके से परेशान किया गया है या उनके साथ मारपीट की गयी है.

इसे भी पढ़ें : #Maoist कमांडर का भाई 2 माह से जेल में, परिजन बोले- ‘पुलिस सरेंडर कराने के लिए मिलने भेजती है और रास्ते में गिरफ्तार कर लेती है’

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: