न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल गृह मंत्री अमित शाह से मिले, राजनीतिक हिंसा पर 48 पेज की रिपोर्ट सौंपी

पश्चिम बंगाल में कानून और व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को आंतरिक सुरक्षा के मसले पर उच्च स्तरीय बैठक की.  

88

NewDelhi : सोमवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी गृह मंत्री अमित शाह से मिले. टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार राज्यपाल ने गृह मंत्री को राज्य में राजनीतिक हिंसा और मौजूदा हालात पर 48 पेज लंबी रिपोर्ट सौंपी.  हालांकि, गृह मंत्री से मुलाकात के बाद राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने कहा कि यह शिष्टाचार भेंट थी. बताया कि उन्होंने पीएम और गृह मंत्री को पश्चिम बंगाल की स्थिति के बारे में बताया. इससे पहले, पश्चिम बंगाल में कानून और व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति को लेकर अडवाइजरी जारी करने के एक दिन बाद गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को आंतरिक सुरक्षा के मसले पर उच्च स्तरीय बैठक की.

बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी मौजूद थे. माना जा रहा है कि बैठक में बंगाल में हो रही राजनीतिक हिंसा पर खास चर्चा हुई. बैठक खत्म होने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की.  उधर, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सोमवार को अपने कैबिनेट की बैठक की.

इसे भी पढ़ें हिंसा के विरोध में भाजपा का बशीरहाट में 12 घंटे का बंद, पूरे बंगाल में काला दिवस

  राज्यपाल ने कहा, सर्वदलीय बैठक का प्रस्ताव रखने जा रहे हैं

शाह से मुलाकात के बाद  राज्यपाल  त्रिपाठी ने पत्रकारों से कहा, मैंने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को पश्चिम बंगाल की स्थिति से अवगत कराया.  मैं विस्तृत जानकारी नहीं दे सकता.  पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किये जाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर त्रिपाठी ने कहा कि बैठक के दौरान ऐसी कोई बातचीत नहीं हुई.  राज्यपाल ने लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से पहली बार मुलाकात की है.

बता दें कि  टाइम्स नाउ के साथ बातचीत में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने इस बात की पुष्टि की कि वे राज्य में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए सर्वदलीय बैठक का प्रस्ताव रखने जा रहे हैं.  उन्होंने कहा कि वह सभी को कॉल करेंगे. त्रिपाठी ने कहा कि अगर बैठक में सीएम ममता बनर्जी शामिल होना चाहती हैं तो उनका बहुत स्वागत है.

इसे भी पढ़ें-  प्रसिद्ध साहित्यकार-एक्टर गिरीश कर्नाड का लम्बी बीमारी के बाद निधन

 भाजपा ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की

गृह मंत्री अमित शाह और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी की मुलाकात काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. क्योंकि भाजपा  के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय समेत कई नेता बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर चुके हैं.  विजयवर्गीय ने कहा है कि हालात नहीं सुधरे तो पार्टी राष्ट्रपति शासन की मांग करेगी.  भाजपा सांसद सौमित्र खान ने भी राज्य में अनुच्छेद 356 का इस्तेमाल करते हुए ममता सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है.  केशरीनाथ त्रिपाठी ने अमित शाह से मुलाकात से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की. हालांकि, मुलाकात से पहले उन्होंने कहा कि यह शिष्टाचार भेंट है और वह प्रधानमंत्री मोदी को चुनाव में मिली जीत पर बधाई देने जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें-   एडिटर्स गिल्ड ने की पत्रकार की गिरफ्तारी की आलोचना , पत्नी पहुंचीं  SC, सुनवाई मंगलवार को

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: