West Bengal

प बंगाल :  अफवाह फैलाने के आरोप में भाजपा सांसद सौमित्र के खिलाफ एफआइआर

विज्ञापन

Kolkata :  तेजी से फैलते जा रहे कोरोना संक्रमण के कथित तौर पर अफवाह फैलाने के आरोप में भारतीय जनता पार्टी के विष्णुपुर से सांसद सौमित्र खान के खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की है. बांकुड़ा जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्यामल सामंत ने रविवार को इस बारे में जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि सौमित्र खान ने अपुष्ट खबरों को सोशल साइट पर शेयर किया था और व्यवस्थाओं को लेकर अफवाहों के जरिए लोगों में दहशत पैदा करने की कोशिश की थी. इसलिए उनके खिलाफ जिला पुलिस के साइबर सेल में प्राथमिकी दर्ज की गई है.

इसे भी पढ़ेंः #FightAgainstCorona : रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में 100 बेड और इमरजेंसी के लिए 14 वेंटीलेटर की सुविधा है उपलब्ध

advt

क्या कहा सौमित्र ने

इस बारे में प्रतिक्रिया के लिए जब सौमित्र खान से संपर्क किया गया तब उन्होंने राज्य सरकार पर फर्जी मामले दायर करने का आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि सोशल साइट पर उन्होंने एक पोस्ट किया था जिसमें राज्य में संक्रमित लोगों का इलाज कर रही नर्सों की सुरक्षा व्यवस्था और बदहाली को लेकर सवाल खड़ा किया गया था. शायद इसी वजह से प्रशासन ने केस दर्ज किया है.

उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में केंद्र सरकार गरीबों के लिए चावल दे रही है लेकिन उस चावल को किस तरह से राज्य सरकार लूट सके इसके लिए विपक्ष की जुबान बंद करने की कोशिश हो रही है. उन्होंने कहा कि पहले भी उनके खिलाफ इसी तरह फर्जी मामलों में प्राथमिकी दर्ज की गई थी और इस बार भी वही किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना का असर :  मुक्केबाजी महासंघ ने मुक्केबाजों के लिए ऑनलाइन कोचिंग शुरू की

बंगाल में केंद्र ने भेजा 10 हजार जांच किट : राज्यपाल

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने रविवार को दावा किया है कि जानलेवा कोरोना वायरस के लगातार फैलते संक्रमण के बीच केंद्र सरकार ने बंगाल में 10 हजार जांच किट भेजा है. इसके साथ ही राज्यपाल ने यह भी नसीहत दी है कि आपदा की इस घड़ी में राजनीतिक बंदिशें तोड़कर एकजुट काम करने की जरूरत है.

adv

रविवार को राज्यपाल ने इस बारे में ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने लिखा है कि आज तेजी से फैलते जा रहे कोरोना वायरस का सामना देश कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मौके पर एकजुटता दिखाकर उदाहरण प्रस्तुत किया है.

राज्य और केंद्र दोनों के संपर्क में हैं राज्यपाल

राज्यपालन ने कहा, मैं राज्य और केंद्र दोनों के संपर्क में लगातार बना हुआ हूं. जांच के लिए 10 हजार किट केंद्र सरकार ने बंगाल को भेजा है. हमें और अधिक सतर्क होना होगा क्योंकि महामारी का संकट गहराता जा रहा है. यह ऐसा समय है.

जब हमें राजनीति को छोड़कर एकजुट तरीके से काम करना होगा. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री विभिन्न मौके पर दावा करती रही हैं कि पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस जांच के लिए आवश्यक टेस्ट किट की कमी है. इसे लेकर बाबुल सुप्रियो ने पहले दावा किया था कि केंद्र सरकार ने राज्यों को पर्याप्त संख्या में जांच किट भेजा है. ममता बनर्जी झूठ बोल रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaUpadates : रिम्स में रविवार को 14 की हुई जांच, 13 निगेटिव, एक का होगा रिपीट टेस्ट

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button