West Bengal

West Bengal: हाथरस कांड के बहाने सड़क पर उतरीं सीएम ममता बनर्जी,  किया चुनाव प्रचार

Kolkata :  मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हाथरस कांड के विरोध में सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया है. शनिवार शाम चार बजे बिड़ला तारामंडल से गांधी प्रतिमा तक जुलूस निकाला गया. विरोध स्वरूप ममता के हाथ में काला कपड़ा था. गांधी प्रतिमा पर पहुंचकर तृणमूल सुप्रीमो ने विरोध मंच से भाषण दिया.

इसे भी पढ़ेंः Good News: IIT खड़गपुर कैंपस में कोरोना के इलाज के लिए टेलीमेडिसिन चिकित्सा सुविधा होगी उपलब्ध

इस दौरान ममता ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा हिंसा और अराजकता पैदा करना चाहती है. उत्तर प्रदेश में न्याय को कुचला गया है. हाथरस में हुई घटना और उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा तत्काल अंतिम संस्कार की कड़ी निंदा करते हुए ममता ने कहा कि उनकी पार्टी के सांसदों को गैर कानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया है. योगी सरकार ने रात के अंधेरे में परिवार की सहमति की बगैर लड़की की चिता को आग लगा दी. पत्रकारों को भी प्रवेश नहीं करने दिया गया.

Catalyst IAS
ram janam hospital

उन्होंने हाथरस की घटना के साथ सिंगूर की घटना का भी मिलान किया. ममता ने कहा कि पूरा देश देख रहा है कि उत्तर प्रदेश में क्या हो रहा है. हाथरस में जो हुआ वह सिंगुर में हुआ. उन्होंने दिल्ली हिंसा का हवाला देते हुए केंद्र और भाजपा पर भी हमला किया. कहा कि कोई नहीं जानता कि दिल्ली हिंसा में कितने लोग मारे गए. भाजपा शासित राज्य में दलितों पर अत्याचार होता है. सबसे बड़ी कट्टरपंथी भाजपा है. आज रोक लिए लेकिन एक दिन देखेंगे. एक दिन हम पीड़ित के परिवार से मिलेंगे.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इसे भी पढे़ंः हाजी हुसैन के निधन पर राज्यपाल, सीएम सहित कई जताया शोक, कहा” भगवान, परिजनों को शक्ति प्रदान करें”

हाल ही में भाजपा ने पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में बार-बार सवाल खड़ा किया है. इस पर ममता ने अपने जवाब में कहा कि बंगाल में कानून और व्यवस्था खराब नहीं है. भाजपा देश का शर्म है. मुझे एक दिन मरना ही है लेकिन मैं भाजपा से नहीं डरती. केंद्र की नई खाद्य नीति की तीखी निन्दा की. उन्होंने कहा कि आवश्यक उत्पादों में कोई दाल, आलू, चावल या तेल नहीं हैं.

कहा कि देश में तानाशाही चल रही है. कोई विपक्षी पार्टी नहीं बोल सकती. इसके अलावा, ममता ने केंद्र की औद्योगिक नीति की भी निंदा की. किसी के जीवन की कोई सुरक्षा नहीं है, सिर्फ फेक न्यूज फैल रही है. उन्होंने कहा कि एक के बाद एक सरकारी कंपनी बेची जा रही है. दूसरी ओर, हाथरस कांड के विरोध में वामपंथी और कांग्रेस के छात्रों, युवाओं और महिला संगठनों ने शाम चार बजे मौलली से धर्मतल्ला तक मार्च निकाला.

इसे भी पढे़ंः बिहार: महागठबंधन में हुआ सीटों का बंटवारा, RJD को 144, कांग्रेस को 70, जानिये किस पार्टी को कितनी सीटें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button