न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हम बैलट पेपर के युग में हरगिज वापस नहीं जाने वाले  : मुख्य चुनाव आयुक्त

बैलट पेपर से हरगिज चुनाव नहीं होंगे. ईवीएम पर चल रहे विवाद के बीच मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने यह बात कही है.

44

NewDelhi : बैलट पेपर से हरगिज चुनाव नहीं होंगे. ईवीएम पर चल रहे विवाद के बीच मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने यह बात कही है. बता दें कि दिल्ली में एक समारोह में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि हम बैलट पेपर के युग में हरगिज वापस नहीं जाने वाले हैं.. बता दें, लंदन में सैयद शुजा नाम के एक कथित ईवीएम हैकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दावा किया था कि भारत की ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सकता है. इस क्रम में उसने कहा था कि 2014 के लोकसभा चुनाव में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ हुई थी. इसके बाद कांग्रेस और भाजपा ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर एक दूसरे पर निशाना साधा था. सैयद शुजा की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए कहा था कि प्रेस कॉन्फ्रेंस कांग्रेस प्रायोजित है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूछा था कि कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल वहां किस हैसियत से थे और वहां क्या कर रहे थे.कहा था कि जब कोई विपक्षी दल जीतता है तो ईवीएम सही है, लेकिन भाजपा जीतती है तो ईवीएम  में छेड़छाड़ हो जाती है. इसके बाद कांग्रेस ने भी भाजपा पर पलटवार किया था.

 ईवीएम का लाभ सत्तारूढ़ भाजपा को मिल रहा है

इसी बीच अब आम आदमी पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव में पुराने, आजमाये जा चुके बैलट पेपर का फिर से इस्तेमाल किये जाने की मांग की है. पार्टी ने मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में सभी विपक्षी दलों से चुनाव का बहिष्कार करने का आह्वान किया. आप के राज्यसभा सदस्य और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने बताया कि लोकतंत्र को बचाने और चुनाव प्रक्रिया में एक बार फिर लोगों का विश्वास स्थापित करने के लिए यह आवश्यक है.  कहा कि इन हालिया खुलासों से स्पष्ट रूप से ईवीएम की निष्पक्षता धूमिल हुई है और इसलिए इसकी जगह बैलट पेपर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

Related Posts

जम्मू-कश्मीर : राज्य सचिवालय भवन से जम्मू-कश्मीर का झंडा हटा,  सिर्फ तिरंगा लहराया

जम्मू कश्मीर में अब तक अलग निशान (झंडे) और अलग विधान की परंपरा चली आ रही थी.

SMILE

उन्होंने कहा, इससे पता चलता है कि ईवीएम का लाभ सत्तारूढ़ भारतीय  भाजपा को मिल रहा है और यह विपक्ष को खेल के मैदान से दूर ले जा रही है. इसके अलावा सपा और बसपा सहित अन्य कई विपक्षी दल भी ईवीएम पर सवाल उठाते हुए बैलट पेपर के इस्तेमाल की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : केजरीवाल ने कहा, कन्हैया देशद्रोह की हो रही है जांच…पर मोदी जी… आपने जो किया, वह क्या है?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: