World

मसूद अजहर पर प्रतिबंध के लिए किसी के दबाव में नहीं आयेंगे :  पाकिस्तान

Islamabad :  पाकिस्तान मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए किसी के दबाव में नहीं आयेगा.  यह बात गुरुवार को इस्लामाबाद के एक उच्च अधिकारी ने कही है.  इस बयान के एक दिन पहले ही चीन ने उन खबरों को खारिज किया है, जिसमें कहा जा रहा था कि अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने उसे मसूद से तकनीकी बाधा हटाने के लिए अल्टीमेटम दिया है.

मसूद अजहर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है. बता दें कि उसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् से वैश्विक आतंकी घोषित किये जाने को लेकर लाये गये प्रस्ताव पर चीन ने अड़ंगा लगाया था.  पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि अजहर को लेकर पाकिस्तान का रवैया स्पष्ट है.

इसे भी पढ़ेंःशहीद हेमंत करकरे को लेकर साध्वी का विवादित बयान, कहा- उन्हें कर्मों की मिली सजा

चीन को कोई अल्टीमेटम नहीं मिला है

14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी अजहर ने ही ली थी.  इसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे.  जब यह पूछा गया कि चीन ने अजहर को संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकी घोषित करने पर तकनीकी बाधा लगा दी तो फैसल ने कहा, इस संबंध में पाकिस्तान जो भी निर्णय लेगा वह उसके राष्ट्रीय हित में होगा.

पाकिस्तान किसी के दबाव में नहीं आयेगा. चीन ने बुधवार को उन खबरों को खारिज कर दिया था जिसमें कहा जा रहा था कि चीन को अजहर से तकनीकी बाधा हटाने के लिए 23 अप्रैल तक का समय मिला है.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि मसूद का मामला समझौते की दिशा में आगे बढ़ रहा है. पता नहीं, मीडिया कैसे कह रहा है कि इस मामले में चीन को तकनीकी बाधा हटाने के लिए 23 अप्रैल तक का अल्टीमेटम दिया गया है. कहा कि चीन को कोई अल्टीमेटम नहीं मिला है.

मीडिया को उन लोगों से स्पष्टीकरण मांगना चाहिए जो ऐसी सूचनाएं जारी करते हैं. पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने एक प्रस्ताव पेश किया था. हालांकि चीन ने इसके खिलाफ वीटो का इस्तेमाल किया.

adv

इसे भी पढ़ें – गेस्ट हाउस कांड पीछे छूटा, माया-मुलायम एक मंच पर आये, मायावती बोलीं, मुलायम सिंह को भारी बहुमत से जितायें

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: