न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लातेहार : चंदवा-टोरी में फ्लाई ओवर ब्रिज के लिए किसानों का जल सत्याग्रह

167

Latehar : टोरी जंक्‍शन क्रॉसिंग पर ओवर ब्रिज बनाने की मांग को लेकर किसान सभा से जुड़े किसान और माकपाइयों ने जल सत्‍याग्रह किया. माकपाइ लातेहार जिले को संपूर्ण सुखाड़ क्षेत्र घोषित करने, बाइपास सड़क बनाने, जगराह डैम की सफाई करने, किसानों का कर्ज माफ करने की मांग कर रहे थे.

जल सत्‍याग्रह आंदोलन को संबोधित करते हुए माकपा के लातेहार जिला प्रभारी संजस पासवान ने कहा कि ऋणमाफी पर प्रधानमंत्री ने हमेशा उदासीन रवैया अपनाया है. उन्होंने कृषि ऋण माफी को ”लॉलीपॉप” करार देकर किसानों का अपमान किया है. कर्ज के बोझ के चलते हताशा में बड़ी संख्या में किसानों ने आत्महत्या की है. देश के अन्नदाता को बचाने के लिए ऋण-माफी जरूरी है. झारखंड में लगातार आठ वर्षों से सुखा पड़ रहा है. किसानों की हालत दिन प्रतिदिन दयनीय होती जा रही  है.

किसान सभा के जिलाध्यक्ष अयूब खान ने कहा कि टोरी जंक्शन पर एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेन के अलावा बालूमाथ रूट में भी ट्रेनों का परिचालन हमेशा होता है. टोरी जंक्‍शन पर ओवर ब्रिज नहीं रहने के कारण टोरी रेलवे क्रॉसिग 24 घंटा में 19 – 20 घंटा बंद रहता है.  इससे चंदवा समेत आमजनों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. चतरा सांसद ने इसे बनाने का वादा 2014 की लोकसभा चुनाव में किया था, लेकिन उन्होंने इसका वादा नहीं निभाया. माकपा के जिला सचिव सुरेंद्र सिंह ने कहा कि इस वर्ष लातेहार जिले की सभी प्रखंडों में प्रयाप्त वर्षा नहीं होने के कारण किसानों की खेतों मे लगी फसल बर्बाद हो गयी है. उनकी माली हालत काफी खराब है, संपूर्ण जिला सुखाड़ की चपेट में है. किसान सभा के जिला सचिव बालेश्वर उरांव के साथ बैजनाथ ठाकुर, सोभन उरांव, अरूण उरांव,कमल गंझु,रशीद मियां,शाजिद खान ने कहा कि दशकों से जगराहा डैम व अलौदिया नाला का सफाई नहीं होने से इसका स्तित्व खतरा में पड़ गया है.

मौके पर पूर्व पंसस सदस्य फहमीदा बीबी, निरंजन ठाकुर, द्वारिका ठाकुर, नंदलाल ठाकुर, गणेश साव, ललन राम, सनिका मुण्डा, बसंत राम, गोपी गंझु, मुन्ना गंझु, रमेश गंझु, गुड्डू गंझु, दशवा परहिया, रौशन, रामलाल उरांव, रतनी देवी, सोनंमत देवी, कुंती देवी, कर्मी देवी, आशा देवी, कसीरन बीबी, उर्मिला देवी,  रूकेजा खातुन, शैदा बीबी समेत सैकड़ों महिला पुरूष शामिल थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: