National

चौकीदार चोर है… मामला : राहुल गांधी का अवमानना की कार्यवाही बंद करने का अनुरोध, फैसला सुरक्षित

NewDelhi : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट से कहा कि उन्होंने चौकीदार चोर है… टिप्पणी गलत तरीके से  SC के हवाले से कहने के मामले में बिना शर्त माफी मांग ली है और इसलिए उनके खिलाफ पराधिक अवमानना की कार्यवाही बंद की जानी चाहिए.  सीजेआई रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की पीठ ने शुक्रवार को भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी द्वारा राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक अवमानना कार्यवाही के लिए दायर याचिका पर दोनों पक्षों की दलीलों को सुना.  पीठ ने कहा कि इस पर फैसला बाद में सुनाया जायेगा.

राहुल गांधी की तरफ से पीठ के समक्ष पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने SC के हवाले से गलत बात कहने के मामले में बिना शर्त माफी मांग ली है और इसके लिए खेद व्यक्त कर दिया है.

भाजपा व्यक्ति केंद्रित नहीं,  विचारधारा आधारित पार्टी है, सिर्फ मोदी या शाह की पार्टी नहीं है : नितिन गडकरी

जनता से माफी मांगने के लिए कहा जाना चाहिए

दूसरी ओर, लेखी की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ से कहा कि राहुल गांधी की माफी अस्वीकार कर दी जानी चाहिए और उनके खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जानी चाहिए. रोहतगी ने यह भी कहा कि कोर्ट को राहुल गांधी को अपनी टिप्पणी के लिए जनता से माफी मांगने के लिए कहा जाना चाहिए.  अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि जो हमारा राजनीतिक अभियान है कि चौकीदार चोर है, उसको जारी रखेंगे.  सुप्रीम कोर्ट ने इस बात पर फैसला सुरिक्षत रखा कि राहुल गांधी के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई बंद की जाये या नहीं?

इसे भी पढ़ेंः15 अगस्त तक टली अयोध्या मामले की सुनवाई, मध्यस्थता के लिए SC ने दिया और तीन महीने का वक्त

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: