JharkhandRanchiTOP SLIDER

देखिये वीडियो- साइबर क्राइम पर क्या कह रहे हैं पूर्व मंत्री रणधीर सिंह

हमरा जनता बिना पढ़ले-लिखले सबको बना रही बुड़बक......अनजान नंबर पर काहे उल्टा पुल्टा जानकारी लोग देते हैं : रणधीर सिंह

Ranchi : सारठ (देवघर) का एक गांव, तारीख 15 जनवरी. शाम का समय….विधायक औऱ पूर्व मंत्री रणधीर सिंह कह रहे हैं…हमरे यहां का आदमी बिहार यूपी के आदमी को बुड़बक बना लेता है तो उस राज्य के आदमी को होशियार बनाइय़े.

हमरा जनता बिना पढ़ले एतना होशियार है तो उसको काहे परेशान करते हैं. पुलिस पकड़ लेता है. हम कहते हैं कि गरीब को तंग मत करो. पुलिस पकड़ती है तो कारण ढूंढ़ कर पकड़े. गरीब जनता को परेशान नहीं करे. जिस दिन खोपड़ी घुम गया, थाना घेर लेंगे.

अगर आपको नया नंबर से कोई फोन करता है तो काहे के लिए उसको अपनी जानकारी बताते हैं. हमारा क्षेत्र का पब्लिक का कोई भी एटीएम नहीं मार पाया. दूसरे देश का पैसा हमरे यहां आ रहा है, तो यह अच्छा है.

किसी को ठगा जा रहा है तो उसको होशियार बनाइये. मतलब यह कि रणधीर सिंह मानते हैं कि साइबर क्राइम ठीक है. पूर्व विधानसभा अध्यक्ष शशांक शेखर भोक्ता ने उनके बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.

पुलिस ले एक्शनः भोक्ता

शशांक शेखर भोक्ता ने रणधीर सिंह के बयान पर आपत्ति जतायी है. न्यूजविंग से बातचीत में कहा कि 15 जनवरी को रणधीर सिंह ने जो बातें साइबर क्राइम के सपोर्ट में कही हैं, वह आपत्तिजनक हैं. एक जनप्रतिनिधि के तौर पर उनका इस तरह से गांव समाज के बीच में ऐसा कहा जाना शर्मनाक है.

वे खुलेआम कोयला और साइबर चोरों को संरक्षण दिये जाने की बात कहते हैं. श्री भोक्ता ने इस मामले में ट्वीट किया है. सीएम कार्यालय, डीजीपी औऱ अन्य को टैग करते हुए इस मामले में पुलिस प्रशासन से कार्रवाई करने की अपील की है.

इसे भी पढ़ें : दो दिन से लापता है आठ साल का आर्यन, हर आने-जानेवाले से बेटे को लाने की गुहार लगा रही मां

5 महीनों में 200 से ज्यादा साइबर अपराधी अरेस्ट

गौरतलब है कि संथालपरगना के कई हिस्सों से साइबर क्राइम की घटनाओं को अंजाम दिये जाने की खबरें सामने आती रही हैं. यहां तक कि साइबर क्राइम विषय पर शोध करने को अमेरिका और दूसरे देशों की टीम झारखंड आने की तैयारी में है.

देशभर से शायद ही कोई राज्य की पुलिस ऐसी हो जो साइबर क्राइम मामले में अपराधियों की तलाश में देवघर, जामताड़ा, दुमका औऱ अन्य जिलों में ना आयी हो.

पिछले 5 महीनों में केवल देवघर से ही झारखंड पुलिस ने 200 से ज्यादा साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. इसके अलावे राज्यभर से सैकड़ों अपराधियों को पकड़ा गया है.

इसे भी पढ़ें : Palamu : 166 हेल्थ वर्कर्स को लगा कोरोना का टीका, 14 फरवरी को लगेगा दूसरा डोज

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: