न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बड़कागांव BDO दंपत्ति के खिलाफ वारंट जारी, गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही छापेमारी

1,008

Hazaribagh: बड़कागांव ब्लॉक के बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी पर घर में काम करने वाली नाबालिग लड़की के ऊपर 200 रुपये की चोरी का आरोप लगाकर पीटने मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है.

नाबालिग बच्ची के साथ मारपीट करने और गर्म आयरन से दागने के आरोप को लेकर बीडीओ दंपत्ति की गिरफ्तारी के लिए हजारीबाग सदर थाना को कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट मिल गया है.

पुलिस बड़कागांव बीडीओ दंपत्ति की गिरफ्तारी के लिए संभावित जगहों पर छापेमारी कर रही है. खबर लिखे जाने तक बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है.

पुलिस गुरुवार की रात रांची स्थित उनके आवास पर भी तलाशी के लिए पहुंची थी लेकिन बीडीओ दंपती अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं. पुलिस अब उनके करीबियों से जानकारी जुटाने में लगी है.

hotlips top

इसे भी पढ़ें- आरोप : बड़कागांव #BDO ने घर में काम करने वाली बच्ची के सिर के बाल उखाड़े, आयरन से जलाया, रॉड से दागा

नाबालिग के बयान पर दर्ज हुआ था मामला

हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड के बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी पर उनके ही घर में काम करने वाली नाबालिग बच्ची के साथ मारपीट करने के मामले में एक अक्टूबर को हजारीबाग के सदर थाना में मामला दर्ज कर लिया गया था.

30 may to 1 june

इस मामले में सदर थाना में नाबालिग के बयान के आधार पर मामला दर्ज हुआ था. नाबालिग ने अपने बयान में बीडीओ राकेश कुमार और उनकी पत्नी पर चोरी का झूठा आरोप लगाते हुए मारपाटी करने और गर्म आयरन से जलाने की बात कही थी.

इससे पहले सोशल मीडिया पर बच्ची और उसके घरवालों का बयान वायरल हो गया था. सबसे पहले न्यूज विंग ने इस खबर की पड़ताल करते हुए खबर प्रकाशित की थी. इसके दूसरे ही दिन मामले पर कार्रवाई हुई. और थाना में मामला दर्ज कर लिया गया.

इसे भी पढ़ें- बड़कागांव #BDO और उसकी पत्नी पर नाबालिग से मारपीट के आरोप में #FIR, #DC ने बनायी जांच टीम

बेलन से मारा और गर्म आयरन से जलाया

नाबालिग बच्ची ने अपने बयान में कहा था कि सात सितंबर को बीडीओ राकेश कुमार के ऑफिस जाने के बाद उनकी पत्नी ने उस पर 200 रुपए चोरी का आरोप लगाया.

आरोप लगाने के बाद बीडीओ साहब की मैडम हिंसक हो गयीं. उन्होंने पहले तो बेलन से पिटायी की, फिर बाद में गर्म आयरन से नाबालिग के हाथ और सीने को जला दिया.

साथ ही शाम में जब बीडीओ साहब ऑफिस से घर आये तो मैडम के कहने पर बीडीओ साहब ने फिर से नाबालिग की चप्पल से पिटायी की. वहीं आयरन से जलाये जाने के बाद जब नाबालिग की तबियत बिगड़ी तो उसने अपने घर जाने की बात कही. लेकिन बीडीओ साहब ने उसे घर जाने नहीं दिया.

उसे 19 दिनों तक घर में बंद रखा और फिर उसके बाद 25 सिंतबर को बीडीओ राकेश कुमार सुबह ऑफिस जाते वक्त नाबालिग को अपने साथ ले गये और उसे बड़कागांव ब्लॉक मोड़ के पास गाड़ी से उतार कर घर जाने को कहा.

इसे भी पढ़ें- #Hazaribagh: जिस बड़कागांव BDO और उनकी पत्नी ने नाबालिग से की थी मारपीट, अब उनसे RTI एक्टिविस्ट को…

बीडीओ ने चुप रहने के लिए किया था घर और एक लाख देने का वादा

नाबालिग बच्ची के परिजनों के अनुसार, जब इस बात की जानकारी बीडीओ राकेश कुमार को हुई, तो उनकी पत्नी बच्ची को लाने वाले एजेंट विनोद कुमार मेहता के घर गयीं और बच्ची के परिजनों को एक लाख रुपया और घर देने की बात कही. साथ ही किसी से यह बात नहीं करने का भी आग्रह किया.

बाद में बच्ची की जब स्थिति खराब होने लगी तो परिजनों ने उसे सदर अस्पताल में भर्ती करवाया. फिर बच्ची के साथ हुए हादसे की सारी जानकारी मीडिया और चाइल्ड सोसायटी के लोगों को दी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like