JharkhandPalamu

कस्तूरबा स्कूल की वार्डेन ने की खुदकुशी- मरने से पहले लिखा, ‘कभी-कभी इंसान बस हार जाता है….’

विज्ञापन

Palamu: पलामू जिले के हरिहरगंज कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की वार्डेन (51 वर्षीय) भारती कुमारी का शव संदेहास्पद हालत में बरामद किया गया है. विद्यालय स्थित आवासीय भवन से फंदे से लटकता उनका शव मिला है. भारती कुमारी 2012 से हिंदी की शिक्षिका के पद पर कार्यरत थी. साथ ही विभागीय निर्देश पर पिछले 29 अगस्त को वार्डेन का पदभार ग्रहण किया था.

इसे भी पढ़ेंःIAS अफसरों के खिलाफ प्रतिकूल टिप्पणी, चार ऑफिसर्स का CR नेगेटिव, दो के विरुद्ध चल रही डिपार्टमेंटल प्रोसेडिंग

advt

फंदे से झूलती मिली लाश

वह मूल रूप से मेदिनीनगर पाटन क्षेत्र की रहनेवाली हैं. और निमिया निवासी सतेन्द्र सिंह की पत्नी थी. वर्तमान में इनका परिवार रांची में रहता है. जानकारी के अनुसार, वार्डेन बुधवार की सुबह जब अपने कमरे से नहीं निकली. तब विद्यालय की अन्य शिक्षिकाओं के साथ छात्राओं ने अंदर से बंद दरवाजे की कुंडी को खिड़की से डंडे के सहारे खोला. जिसके बाद मृतका का शव छत की कुंडली से झूलता पाया गया.

कभी-कभी इंसान बस हार जाता है…

वार्डेन ने मंगलवार की देर रात करीब 1 बजे रांची में रह रहे अपने इंजीनियर बेटे किसलय कुमार को सुसाइड नोट व्हाट्सएप्प के जरिये भेजा था. लेकिन किसलय ने संयोग से बुधवार की सुबह मैसेज देखा. जिसके बाद घटना की जानकारी मिली और करीब 1 बजे परिजन रोते-बिलखते विद्यालय पहुंचे.

इसे भी पढ़ें-चुनावी मोड में जाने से पहले सरयू राय के टारगेट पर लगातार हैं रघुवर

adv

विद्यालय में ही पदस्थापित एक साइंस टीचर सुनीता कुमारी ने बताया कि रात करीब 1 बज कर 6 मिनट में वार्डेन ने उसके मोबाइल पर व्हाट्सएप्प मैसेज किया था. जिसमें लिखा था, ‘कभी-कभी इंसान ना टूटता है, ना बिखरता है, बस हार जाता है, कभी खुद से, कभी किस्मत से, कभी अपनों से…’

एसडीओ समेत कई अधिकारी जांच के लिए पहुंचे

घटना की सूचना के बाद छतरपुर एसडीओ भोगेन्द्र ठाकुर, DSP शम्भू कुमार सिंह, इंस्पेक्टर परमेश्वर दयाल मेहरा, पलामू डीएससी मोसौदी टूडू, डीएओ सुशील कुमार, बीडीओ देवेंद्र कुमार, थानाप्रभारी महानंद सुरीन, महिला एसआई तीरषा मींस, बीईईओ सुबोध कुमार राय ने पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया. बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमास्टम के लिए मेदनीनगर भेज दिया.

इसे भी पढ़ें-वित्तीय संकट की ओर झारखंड ! 40.50 लाख करोड़ के ऑन गोइंग प्रोजेक्ट का बढ़ा कॉस्ट, खजाने में पैसे की कमी

हर पहलू से हो रही जांच- पुलिस

इस संबंध में DSP शंम्भू कुमार सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया में ये आत्महत्या प्रतीत होता है. वार्डेन भारती ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उन्होंने आत्महत्या का कारण घरेलू विवाद साथ ही जॉब को लेकर डिप्रेशन बताया है. लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पूरी घटना की जानकारी मिल पाएगी. पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें- मैनहर्ट मामला: विजिलेंस ने मांगी 5 बार अनुमति, हाईकोर्ट का भी था निर्देश, FIR पर चुप रहीं राजबाला

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close