lok sabha election 2019Ranchi

29 अप्रैल को राज्य की तीन सीट पर वोटिंग, नक्सल प्रभावित जिलों में शांतिपूर्ण चुनाव कराना बड़ी चुनौती

Ranchi: 29 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए वोटिंग होगी. इस दौरान झारखंड के तीन लोकसभा क्षेत्र पलामू, चतरा और लोहरदगा में प्रथम चरण का चुनाव होना है.

Sanjeevani

इन तीन लोकसभा क्षेत्रों के छह अति नक्सल प्रभावित जिले चतरा, पलामू लोहरदगा, गुमला,गढ़वा और लातेहार में शांतिपूर्ण चुनाव कराना सुरक्षा बलों के लिए एक बड़ी चुनौती होगी.

MDLM

झारखंड में कुल 13 जिला अति नक्सल प्रभावित श्रेणी में आते हैं. जिनमें ये छह जिले शामिल हैं. वहीं शांतिपूर्ण चुनाव को लेकर इन जिलों में 114 कंपनियों सुरक्षा बल की तैनाती की गई है.

इसे भी पढ़ेंःगिरिराज के बयान पर गरमायी सियासत, तेजस्वी का BJP प्रत्याशी के बहाने नीतीश पर वार

सुरक्षा बल की 114 कंपनियां रहेगी तैनात

झारखंड में प्रथम चरण का चुनाव शांतिपूर्वक तरीके से चुनाव संपन्न कराने के लिए सीआरपीएफ, बीएसएफ, आइटीबीपी, एसएसबी की 114 कंपनियों को तैनात की गई है.

ताकि लोकसभा चुनाव में सुरक्षा की दृष्टि से किसी तरह की कोई चूक ना हो. झारखंड के पहले चरण के लिए चतरा, पलामू, लोहरदगा में सुरक्षा को लेकर विशेष ध्यान रखा गया है.

कहां कितने बल हैं तैनात

चतरा : 13 कंपनी सीआरपीएफ

पलामू : 14 कंपनी सीआरपीएफ

लातेहार : 33 कंपनी सीआरपीएफ

गुमला : आठ कंपनी सीआरपीएफ, पांच कंपनी आइटीबीपी व चार कंपनी सशस्त्र सीमा बल

लोहरदगा : छह कंपनी सशस्त्र सीमा बल व आठ कंपनी सीआरपीएफ

गढ़वा : 14 कंपनी सीआरपीएफ व पांच कंपनी बीएसएफ

इसे भी पढ़ेंःप्रियंका गांधी नहीं अजय राय देंगे वाराणसी से पीएम मोदी को टक्कर

समय-समय पर चलाया जा रहा सघन चेकिंग अभियान

झारखंड में प्रथम चरण के तहत होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर सुरक्षा के दृष्टिकोण से जवानों को तैनात करने के साथ-साथ जंगली इलाके और अति नक्सल प्रभावित इलाकों में सीआरपीएफ और बीएसएफ के द्वारा समय-समय पर सघन चेकिंग अभियान भी चलाई जा रहा है. बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और ओडिशा के सटे इलाकों में भी सीमा सुरक्षा बल और बीएसएफ द्वारा पैनी नजर रखी जा रही है.

झारखंड में 600 पुलिस कंपनियों की तैनाती

झारखंड में लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से करवाने के लिए झारखंड में 600 पुलिस कंपनियों की तैनाती रहेगी. सीआरपीएफ की 200 कंपनियों के अलावा जैप, एसआईआरबी और झारखंड पुलिस तैनात रहेगी.

चुनाव के दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से निपटने के लिए सीआरपीएफ, जैप बटालियन और जिला पुलिस को विशेष ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी गई है. पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग दी जा रही है. और माओवादी प्रभाव वाले जिलों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे.

इसे भी पढ़ेंःलोकसभा चुनाव 2019 : चुनाव आयोग ने  742 करोड़ कैश सहित 3152.54  करोड़ के सामान जब्त किये

नक्सलियों ने की है चुनाव बहिष्कार की घोषणा

नक्सलियों ने लोकसभा चुनाव के बहिष्कार की घोषणा की है. इसके लिए नक्सलियों के द्वारा जगह-जगह पोस्टर बाजी कर दहशत फैलाने का भी काम किया जा रहा है.

और चुनाव बहिष्कार करने की भी बात कही जा रही है. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि नक्सली चुनाव के समय सुरक्षाबलों को हानि पहुंचाने के लिए किसी बड़ी घटना का अंजाम दे सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःमोदी -शाह की जोड़ी सत्ता में आयी, तो इसके लिए सिर्फ राहुल गांधी जिम्मेवार होंगे  : केजरीवाल

Related Articles

Back to top button