न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

कल रांची, खूंटी ,कोडरमा और हजारीबाग में वोटिंग, सुरक्षाबलों की 225 कंपनियां तैनात

निर्वाचन आयोग के निर्देश पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं. सभी क्षेत्रों में मतदान कर्मियों को सुरक्षा के साथ रवाना किया गया. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर से मतदान कर्मियों को भेजा गया.

69

Ranchi : झारखंड में होने वाले दूसरे चरण और देश में पांचवें चरण के लिए छह मई को वोट डाले जाएंगे. निष्‍पक्ष मतदान कराने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है.  निर्वाचन आयोग के निर्देश पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं. सभी क्षेत्रों में मतदान कर्मियों को सुरक्षा के साथ रवाना किया गया. नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर से मतदान कर्मियों को भेजा गया. झारखंड के रांची, खूंटी ,कोडरमा और हजारीबाग में छह मई को मतदान होना है.  इन चारों लोकसभा संसदीय क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था में सुरक्षाबलों की  225 कंपनियां तैनात की गयी हैं

eidbanner

 40 हजार जवान और अधिकारी संभालेंगे सुरक्षा व्यवस्था की कमान

झारखंड में दूसरे चरण में होने वाले  की चार लोकसभा सीटों पर 40 हजार जवान और पुलिस अधिकारी तैनात किये गये हैं. सभी की तैनाती पुलिस मुख्यालय के स्तर से की गयी है.  राज्‍़य के पुलिस बल और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को इन जिले में भेज दिया गया है .तैनात किये जा रहे जवानों में 154 कंपनी सीआरपीएफ के अलावा जैप, आईआरबी ,एसआईआरबी के अलावा जिला पुलिस बल और होमगार्ड के जवान शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – 71 साल बाद भी नहीं बनी पक्‍की सड़क, गांव में कोई अपने लड़के-लड़कियों की शादी नहीं करता चाहता

 संवेदनशील और अतिसंवेदनशील बूथों पर सीआरपीएफ की तैनाती

शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न कराने के लिए नक्सल प्रभावित इलाकों में जहां नक्सलियों र उग्रवादियों के खिलाफ जवानों को अभियान में लगाया गया है. वहीं अति संवेदनशील और संवेदनशील बूथों पर सीआरपीएफ और सशस्त्र बलों की तैनाती की गयी है इसके अलावा साधारण बूथों  में जिला बल के जवान तैनात किये गये हैं.  दूरस्थ इलाके और संवेदनशील इलाकों के बूथों में सशस्त्र बलोंको भेजा गया है. सुरक्षा के दृष्टिकोण से जवानों का मूवमेंट के लिए अलग से प्लान भी तैयार किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः कोडरमाः माइका मजदूरों के प्रति रघुवर सरकार की उदासीनता भी अन्नपूर्णा देवी के लिए बन सकती है मुसीबत

 रांची और खूंटी अति नक्सल प्रभावित जिले की श्रेणी में

झारखंड के चार लोकसभा संसदीय क्षेत्रों की बात की बात करें तो जहां रांची और खूंटी अति नक्सल प्रभावित जिले की श्रेणी में आते हैं,  वहीं हजारीबाग संवेदनशील और कोडरमा कम संवेदनशील जिले के श्रेणी में आते हैं.अति संवेदनशील बूथों पर सीआरपीएफ के जवानों की तैनाती की जायेगी.

mi banner add
इसे भी पढ़ेंः हजारीबागः ब्रेल लिपि की पर्ची और ब्रेल ईवीएम के जरिये नेत्रहीन वोटर पहली बार करेंगे मतदान

 8834 मतदान केंद्रों पर डाले जाएंगे वोट

रांची, खूंटी, हजारीबाग और कोडरमा लोकसभा सीटों पर सुबह सात बजे से दिन के चार बजे तक वोट डाले जाएंगे. राज्‍य के दूसरे चरण में 65 लाख 45 हजार मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. जिसके लिए कुल 8834 मतदान केंद्र बनाये गये है. जिनमे रांची में 2376, कोडरमा में 2475, हजारीबाग में 2278 और खूंटी में 1705 बूथ बनाये गये हैं.

 शनिवार शाम से हो गयी निषेधाज्ञा लागू

शनिवार शाम से ही रांची, खूंटी, हजारीबाग और कोडरमा में निषेधाज्ञा लागू कर हो गयी है, जो सात मई की सुबह 8 बजे तक लागू रहेगी. इसके तहत मतदान कार्य में लगे पदाधिकारियों, पुलिस अफसरों व कर्मचारियों को छोड़कर पांच व उससे अधिक व्यक्तियों के मतदान केंद्र भवन के 100 मीटर परिधि में जमा होने या चलने पर प्रतिबंध है.

 नक्सलियों की एक भी कोशिश कामयाब नहीं हो पायी

29 अप्रैल को झारखंड में हुए प्रथम चरण के चुनाव के तहत तीन लोकसभा सीट चतरा, पलामू और लोहरदगा क्षेत्र के पलामू, गढ़वा, लातेहार, चतरा,लोहरदगा, और गुमला जैसे अतिनक्सल प्रभावित इलाके में लगभग 63 प्रतिशत मतदान कर मतदाताओं ने नक्सली आतंक को  करारा  जवाब दिया है. बता दें कि चुनाव से पहले नक्सलियों ने जहां पोस्टरबाजी कर चुनाव बहिष्कार की धमकी दी थी, वहीं भवन उड़ा कर और मशीनों में आग लगा कर चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश भी की थी,लेकिन कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच नक्सलियों की एक भी कोशिश कामयाब नहीं हो पायी थी.

इसे भी पढ़ें- नीतीश ने मसूद अजहर के वैश्विक आतंकवादी घोषित होने पर की मोदी की तारीफ, साधा लालू पर निशाना

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: