JharkhandLead NewsRanchi

वॉलेंट्री ब्लड डोनर्स अपना डिजिटल सर्टिफिकेट दिखा कर ले सकेंगे ब्लड और ब्लड कंपोनेंट्स

Ranchi : स्वास्थ्य विभाग ने खून के लिए ब्लड डोनर्स को वॉलेंट्री ब्लड डोनेशन के लिए प्रेरित कर उन्हें भी स्वैच्छिक ब्लड डोनर्स की सूची में सम्मिलित करने का लक्ष्य रखा है. वहीं एनजीओ की मदद से ब्लड डोनेशन कैंप के आयोजन बड़े स्तर पर करने और ब्लड डोनेशन के डोनर्स को प्रोत्साहित किये जाने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने संकल्प जारी किया है. जिसके तहत ब्लड डोनर्स को यह सुविधा होगी कि खुद के लिए जरूरत पड़ने पर डोनेट करने की तिथि से 365 दिनों के अन्दर अपना डिजिटल सर्टिफिकेट किसी भी सरकारी ब्लड बैंक में दिखा कर ब्लड या ब्लड कंपोनेंट्स प्राप्त कर सकते हैं.

इसके अलावा भी कई अन्य बिंदुओं को लेकर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अरुण कुमार सिंह ने सभी सिविल सर्जन और ब्लड बैंक प्रभारी को तत्काल प्रभाव से लागू करने का निर्देश दिया है. इतना ही नहीं हर तीन महीने पर इसकी समीक्षा डीसी को करते हुए रिपोर्ट देने को कहा गया है.

इसे भी पढ़ें:चिंता : अब भी बालिग होने से पहले 10 फीसदी बच्चियां बन रही हैं मां

100 परसेंट डोनेशन का है लक्ष्य

संकल्प में कहा गया है कि ब्लड और ब्लड कंपोनेंट्स की सुरक्षित व पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है और इस दिशा में कार्य कर रही है. वहीं इस प्रयास को सफल बनाने में डोनर्स और वालेंट्री ब्लड डोनर्स के साथ इसके लिए काम करनेवाले संगठनों की भूमिका अहम है.

ऐसे में राज्य के ब्लड बैंकों में ब्लड की उपलब्धता बनाये रखने और मार्गदर्शन के अनुसार 100 परसेंट डोनेशन से लक्ष्य को प्राप्त किया जायेगा. वहीं बदले में डोनर्स के द्वारा खून देने का सिस्टम चरणबद्ध तरीके से समाप्त किया जाना है.

इसे भी पढ़ें:Sarkari Naukri: CISF में निकली 647 वैकेंसी, 5 फरवरी 2022 तक करें अप्लाई

ये भी है संकल्प में

सभी ब्लड बैंकों का दायित्व होगा कि उनके क्षेत्र में कार्यरत स्वयंसेवी संस्थाओं और ब्लड डोनर्स के समूहों के साथ समन्वय स्थापित कर ब्लड डोनेशन कैंप के माध्यम से ब्लड कलेक्शन में तेजी लाये.

ऐसी स्वयंसेवी संस्थाएं या ब्लड डोनर्स के समूहों को उनके विगत वित्तीय वर्ष के दौरान ब्लड डोनेशन कैंपों के माध्यम से कलेक्ट ब्लड का अधिकतम 10% किसी भी सरकारी ब्लड बैंक से ब्लड की उपलब्धता को देखते हुए उनके अनुरोध पर निर्गत किया जायेगा. जिसकी वैधता वर्तमान वित्तीय वर्ष के 31 मार्च तक रहेगी.

आगामी वित्तीय वर्ष के दौरान वर्तमान वित्तीय वर्ष में कलेक्शन ब्लड के अधिकतम 10% (दस प्रतिशत) तक किसी भी सरकारी ब्लड बैंक से ब्लड की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए ब्लड की प्राप्ति अनुमान्य होगी.

इसे भी पढ़ें:पश्चिमी यूपी : जिसके साथ जाट, उसी की ठाट

Advt

Related Articles

Back to top button