NEWS

हेमंत सरकार में दबाई जा रही आदिवासियों की आवाज, पूंजीपतियों के इशारे पर जॉन मीरन मुंडा पर लगा CCA

झारखंड जेनरल कामगार यूनियन और क्रांतिकारी आदिवासी महासभा ने किया विरोध, पदयात्रा कर बतायेंगे सच्चाई

Chaibasa : झारखंड जेनरल कामगार यूनियन के केंद्रीय अध्यक्ष सह मजदूर नेता जॉन मिरन मुंडा पर CCA लगाने और जराईकेला थाना में 6 माह तक रोजाना हाजिरी लगाने के आदेश के खिलाफ सिंहपुखरिया में बैठक की गयी. यूनियन के जिला अध्यक्ष मानसिंह तिरिया ने कहा खुद आदिवासियों की हितैषी बतानेवाली हेमंत सरकार में भी अदिवासियों की आवाज उठाने वाले मजदूर नेता जॉन मीरन मुंडा पर CCA (क्राइम कंट्रोल एक्ट) लगाना आदिवासियों की आवाज को दबाने का षड्यंत्र है. उन्होंने कहा कि जॉन मीरन मुंडा के ऊपर सीसीए लगाने के खिलाफ अखिल भारतीय क्रांतिकारी आदिवासी महासभा पूरे जिले में पदयात्रा कर जनता को सच बताने का काम करेगी.

इसे भी पढ़ें – आधी रात से शुरू होगा माओवादियों का स्थापना दिवस, नक्सलियों ने पोस्टर साटे, पुलिस भी मुस्तैद 

आज सरकार और जिला प्रसाशन बड़े पूंजीपति टाटा, रूंगटा, एसीसी, शाह ब्रदर्स जैसे बड़े पूंजीपतियों के इशारे पर काम कर रही है. इन्हीं के इशारे पर जॉन मीरन मुंडा को CCA लगाकर जिला से दूर रखा गया है, ताकि जनता की आवाज को न उठाया जा सके. जिला उपाध्यक्ष माधव चंद्र ने कहा कि एसीसी झींकपानी को एफ-3 ब्लॉक की लीज लेने में दिक्कत न हो, इसलिए एक बड़ी साजिश जिला प्रशासन और कंपनी द्वारा रची गई है, ताकि 6 माह में किसी भी तरीके से ग्रामीणों को लालच देकर भी एफ-3 ब्लॉक की लीज को हासिल किया जा सके. बैठक में किसान संगठनों द्वारा 27 सितंबर को बुलाये गये देश व्यापी बंद का भी समर्थन करने का निर्णय लिया गया. बैठक में सुशील पूर्ति, लखन टुडू, बंसीधर बिरुली, सूरज मुंदूइया, कालिया मुंडा, श्रीकांत मुंदूइया, सुभाष कुंकल, हीरालाल चतोम्बा, रमेश बेहरा, शीतल तिरिया, निराकर पान, हीरा लाल हेम्ब्रम, मनोज गोप, शत्रुघ्न कुंकल, दामा मुंडा, मनोज सिंकू, लक्ष्मण पिंगुवा, चुम्बरु पिंगुवा, नरेश सुंडी, आशीष बिरुवा तथा भारी संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे.

advt

इसे भी पढ़ें – आदिवासी युवती को घर में खींच ले गया पड़ोसी, तो खा लिया कीटनाशक 

 

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: