न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दुमका : नेत्रहीन छात्राओं से दो साल से हो रही थी छेड़खानी, पिटाई के डर से थीं चुप

छात्र-छात्राओं ने सचिव, केयरटेकर और गार्ड मुकेश महतो पर लगाया आरोप

520

Dumka :  सदर प्रखंड के हिजला गांव स्थित नेत्रहीन आवासीय विद्यालय में बालिकाओं के साथ छेड़खानी करने का मामला प्रकाश में आया है. आरोपी स्कूल के केयरटेकर व गार्ड मुकेश महतो फरार है. आरोप विद्यालय के सचिव शिवनंदन महतो पर भी छात्राओं ने लगाया है. मामले का खुलकर विरोध विद्यालय के बालक और बालिकाओं ने शनिवार को किया. जिला समाज कल्याण कार्यालय दुमका द्वारा संचालित इस नेत्रहीन आवासीय विद्यालय में छात्राओं से छेड़खानी और छात्रों को प्रताड़ित करने का घिनौना कार्य बीते दो वर्षों से चल रहा था. लेकिन मारपीट के डर से छात्रों की जुबान से आवाज नहीं निकल रही थी. जब आरोपी मुकेश ने अपने घिनौने कार्य का हदे पार किया तो छात्राओं ने इसका विरोध किया.

इसे भी पढ़ेंःकोयलांचल में रंगदारी और कोयले की कमाई पर वर्चस्व को लेकर 29 साल में हुईंं 340 से ज्यादा हत्याएं

कपड़े नहीं उतारने पर मुकेश करता था  छात्राओं की पिटाई

मुकेश के घिनौने करतूत से पीड़ित तीन नेत्रहीन छात्राओं ने बताया कि मुकेश गंदे-गंदे बात छात्राओं करता था. मुकेश बीते 2 सालों से यह सब कर रहा है. लेकिन स्कूल के सविच शिवनंदन महतो उसका  बहनोई होने के कारण कोई कार्रवाई अभी तक उस पर नहीं हुआ है. छात्राओं ने बताया कि बीते गुरूवार को मुकेश लड़कियों के रूम में गया और तीनों छात्राओं से अभ्रद बाते करने लगा. एक छात्रा के पास रखा मोबाइल भी मुकेश ने छिन लिया और छात्रा को अपने कपड़े उतारने को कहा. नहीं उतारने पर तीनों छात्राओं से मारपीट भी किया और मोबाइल अपने साथ लेकर बाहर आ गया. छात्राओं ने बताया कि जब सभी छात्रा अपनी बेड़ में सो गई तो मुकेश हथौंडी लेकर फिर से रूम में प्रवेश किया था. लेकिन छात्राओं के जगने के बाद वह भाग गया. शनिवार की मामला जब सामने आया तो छात्रा से छिने गई मोबाइल विद्यालय सचिव शिवनंदन महतो के पास से बरामद किया गया. जबकि मुकेश विद्यालय से भाग निकल. छात्राओं ने बताया कि स्कूल के सचिव शिवनंदन महतो अपने कार्यालय कक्ष में छात्राओं को किसी भी कार्य में बुलाकर शरीर के किसी भी अंग में हांथ देते है. विरोध करने पर स्कूल से बाहर कर देने की धमकी तक देते हैं.

इसे भी पढ़ेंःजन आंदोलन के रूप में लेकर जिला को कुपोषण मुक्त बनाएं : सुदर्शन भगत

स्कूल के छात्रों से कराया जा रहा था बाल मजदूरी

नेत्रहीन आवासीय विद्यालय के छात्रों ने भी स्कूल के सचिव शिवनंदन महतो पर प्रताड़ित करने और बाल मजदूरी करने का आरोप लगाया है. छात्रों ने बताया कि सचिव द्वारा झाड़ू, पोछा, विद्यालय परिसर में घांस-फुंस का साफ-सफाई सहित अन्य कार्य करवाता है. नहीं करने पर छात्रों को पीटा जाता है और गाली-गलौज भी किया जाता है. छात्रों ने बताया कि प्रत्येक दिन इस प्रकार के कार्य सचिव द्वारा लिया जाता है. छात्रों से बाल मजदूरी करवाया जाता है. छात्रों ने बताया कि विद्यालय में खाना भी ठीक से नहीं दिया जाता है. प्रत्येक दिन ही सब्जी और अन्य खाने की सामाग्री दिया जाता है. विद्यालय के मैनू के अनुसार प्रतिदिन अलग-अलग खाना व्यंजन दिया जाना है, लेकिन दिया जाता है.

इसे भी पढ़ेंःमोदी सरकार का तोहफा, अब हर दरवाजे पर बैंक : महेश पोद्दार  

रस्सी के सहारे दरवाजा-खिड़की

palamu_12

छात्राओं के रहने वाले रूम में दरवाजे और खिड़की रस्सी के सहारे है. रस्सी खुली तो दरवाजा और खिड़की भी खुल गई और बेड़ पर सोई लड़कियों के उपर भी गिर सकता है. छात्राओं के बेडरूम का हालात इतनी खराब है कि कोई भी असानी से रूम में प्रवेश कर सकता है. दरवाजे और खिड़की सिर्फ नाम का लगा हुआ है.

इसे भी पढ़ेंःभाजपा कार्यकर्ता अपनी ही सरकार से हैं नाराज, Facebook पर कर रहे आलोचना   

विद्यालय सचिव चलाता है एनजीओ

नेत्रहीन आवासीय विद्यालय में विद्यालय सचिव शिवनंदन महतो, शिक्षक एकराम सिंह, तापस कुमार दास, संजय कुमार ठाकुर और पम्पी कुमारी पदस्थापित है. इसके अलावे तीन महिला केयर टेकर और मुकेश महतो गार्ड में पदस्थापित है. विद्यालय में कुल छात्र-छात्राओं का नामांकन 45 है. स्कूल में उपस्थित 23 छात्र और 8 छात्रा का होता है, बाकी छात्रा विद्यालय छोड़कर जा चुकी हैं. बताया जा रहा है कि मुकेश को सर्वांगिण विकास विभाग एनजीओ के माध्यम से चयनित किया गया है. मुकेश को मुख्य तौर गार्ड में रखा गया है. लेकिन वह केयरटेकर का भी कार्य करता है.

बता दें के सर्वांगिण विकास विभाग एनजीओ विद्यालय के सचिव शिवनंदन महतो संचालित करता है. मुकेश कुमार रिश्‍ते में शिवनंदन महतो का साला लगता है. इधर मामले में राजनीति के आशंका जताया जा रहा है. विद्यालय के देखभाल और जिम्मेवारी लेने वाले एनजीओ का भी साजिश से इंकार नहीं किया जा सकता है. पिछले सालों से विद्यालय में लगातार समाज कल्याण मंत्री डॉ लूईस मरांडी का विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करना और बच्चों के साथ मनोरंजन करते दिखीं. इससे पहले ऐसा कुछ भी सामने नहीं आया.

यहां बता दे कि मंत्री के समर्थक जो एनजीओ चलाते है. उनकी भी विद्यालय में पिछले दिनों से सक्रियता रही. एनजीओ द्वारा विद्यालय के छात्र- छात्राओं के कई कार्यक्रम आयोजन बढ-चढ कर सक्रियता रही. ऐसे में विद्यालय के संचालन का जिम्मा लेने को दो एनजीओ के बीच आपसी रंजिश में छात्राओं को बीच मे लाना राजनीति का बू आ रही है. जिसकी पुष्टि नाम नहीं लेने के शर्त पर जिले के अधिकारी भी कर रहे है. वहीं एनजीओ को बदनाम करने का साजिश बता रहे है.

घटना की जानकारी मिलने के बाद जामा सीडीपीओ को जांच का आदेश दिया गया हैं प्रारंभिक जांच के दौरान पाए गए मामलों में विद्यालय के सचिव शिवनंदन महतो और रात्री प्रहरी मुकेश महतो को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है. मामले की जांच जामा सीडीपीओ को दिया गया है. आगे की जांच जारी है. दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

 श्वेता भारती, समाज कल्याण पदाधिकारी, दुमका

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: