Lead NewsNational

चीन बॉर्डर तक जाएगी विस्टाडोम एक्सप्रेस, ट्रांसपेरेंट विंडो और शीशे की छत से दिखेगा हिमालय का शानदार नजारा

हर यात्री के लिए कोच में डिजिटल डिस्प्ले और स्पीकर लगाए गए हैं,

New Delhi : देश के उत्तर- पूर्व में स्थित सात राज्यों में प्राकृतिक सौंदर्य भरपूर है. खासक हिमालय की खूबसूरत पहाड़ियों की खूबसूरती मन को भा जाती है. वहीं केंद्र सरकार भी नॉर्थ-ईस्ट में टूरिज्म (North-East Tourism) को बढ़ावा देने के सिलसिले में लगातार कदम उठा रही है.

इसी कड़ी में रेलवे (Indian Railway) का विस्टाडोम कोच अब चीन सीमा (Vistadome Coach Train to China Border) तक पहुंच गया है.

दरअसल, अरुणाचल प्रदेश के नाहरलागुन रेलवे स्टेशन से असम के तिनसुकिया रेलवे स्टेशन के बीच विस्टाडोम एक्सप्रेस (Vistadome Express) को हरी झंडी दिखाई गई है. इस दौरान, केंद्रीय राज्य मंत्री दर्शना जरदोश, राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू, असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा मौजूद रहे.

Sanjeevani
MDLM

केंद्रीय रेल एवं टेक्सटाइल राज्य मंत्री दर्शना जरदोश ने ट्वीट किया, ”नाहरलागुन और तिनसुकिया विस्टाडोम ट्रेन अरुणाचल प्रदेश में पर्यटन और व्यापार को बढ़ावा देगी. आज अरुणाचल के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के साथ इस ट्रेन की शुरुआत की गई. इस यात्रा के जरिए से लाइफटाइम एक्सपीरियंस मिलेगा.

इसे भी पढ़ें:नये साल में ऐप से खाना मंगाने पर लग सकता है झटका ! जानें किस वजह से ऑनलाइन फूड डिलीवरी हो सकती है महंगी

ऐसा होता है विस्टाडोम कोच

बता दें कि विस्टाडोम कोच में बड़ी कांच की विंडोज होती हैं, जिसके जरिए से बाहर का नजारा काफी साफ और खूबसूरत नजर आता है. इसके साथ ही ट्रेन में टूरिस्ट्स के लिए कई तरह की अन्य सुविधाएं भी मौजूद हैं. विस्टाडोम एक्सप्रेस की शुरुआत के समय अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के अलावा कार्यक्रम में असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए से जुड़े हुए थे.

इसे भी पढ़ें:पटना के सभी स्कूल सुबह 9 बजे से 3.30 बजे तक चलेंगे, प्रशासन ने जारी किया निर्देश

सरकार की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि पर्यटकों की मांग को पूरा करने के लिए गुवाहाटी और न्यू हाफलोंग के बीच मौजूदा विस्टाडोम सेवा को बदरपुर तक बढ़ाया जाएगा. इन कोचों के आने से हमारे राज्य में और अधिक पर्यटकों के आने की संभावना बढ़ जाएगी.

उन्होंने यह भी कहा कि असम सरकार राज्य के किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए ‘किसान रेल’ सेवा के लिए एनएफआर के साथ काम कर रही है. उन्होंने कहा, “यदि ये विशेष ट्रेनें शुरू की जाती हैं, तो असम से देश के अन्य हिस्सों में खराब होने वाले प्रोडक्ट्स को तेजी से पहुंचाया जा सकता है और हमारे किसानों को अत्यधिक लाभ होगा.”

वहीं, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि उनके राज्य को जोड़ने वाले कई नए मार्गों पर चल रहे सर्वेक्षण विभिन्न चरणों में हैं.

इसे भी पढ़ें:सरकार कर रही जन समस्या समाधान का दावा, पीड़ित परिवार लगा रहे हैं उपायुक्त कार्यालय के चक्कर : मेयर आशा लकड़ा

180 डिग्री तक घूमने वाली सीट

विस्टाडोम कोच की खासियत की बात करें तो इसमें यात्रियों को एक अलग तरीके का अनुभव मिलेगा. इसमें शीशे की छत होंगी, शीशे की विंडोज और 180 डिग्री तक घूमने वाली सीट की सुविधा दी गई है. साथ ही ट्रेन के कोच में यात्रियों को वाई-फाई की सर्विस भी प्रदान की जा रही है.

इसके अलावा, हर यात्री के लिए कोच में डिजिटल डिस्प्ले और स्पीकर लगाए गए हैं, जिसकी मदद से आप अपने पसंदीदा गाने भी सुन सकते हैं. वहीं, मेट्रो की तरह ही इसमें भी ऑटोमैटिक स्लाइडिंग दरवाजे और जीपीएस सिस्टम लगाए गए हैं.

इसे भी पढ़ें:सरकार कर रही जन समस्या समाधान का दावा, पीड़ित परिवार लगा रहे हैं उपायुक्त कार्यालय के चक्कर : मेयर आशा लकड़ा

Related Articles

Back to top button