Crime NewsEducation & CareerLead NewsNationalTOP SLIDERTRENDING

JNU  में रामनवमी के दिन मांसाहार को लेकर हिंसक मारपीट, आइसा और ABVP  ने एक दूसरे पर दर्ज करायी FIR, देखें VIDEO

एबीवीपी के कार्यकर्ता कावेरी हॉस्टल की मेस में मांसाहार का कर रहे थे विरोध

New Delhi :  देश की सबसे चर्चित यूनिवर्सिटी जेएनयू हाल के कुछ वर्षों से पढ़ाई में उपलब्धियों के लिए कम और बेमतलब के विवादों के कारण ज्यादा चर्चा में रही है. यही वो कैंपस है जहां सरेआम देश विद्रोह के नारे लगे. कश्मीर की आड़ में आजादी-आजादी के नारे लगाये गये थे.

अभी एकदम ताजा मामले में रामनवमी के दिन रविवार शाम जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में वामपंथी छात्र संगठन आइसा और हिंदूवादी छात्र संगठन एबीवीपी ने एक दूसरे पर मारपीट के आरोप लगाए हैं.

इसे भी पढ़ें :दो समुदाय में झड़प के बाद कोडरमा बाजार बंद

ऐसे शुरू हुआ विवाद

छात्र संगठनों के बीच ये झगड़ा तौर पर यूनिवर्सिटी मेस में मांसाहारी खाने को लेकर हुआ है. वामपंथी छात्र संगठनों का आरोप है कि एबीवीपी के कार्यकर्ता यूनिवर्सिटी के कावेरी हॉस्टल की मेस में मांसाहारी भोजन का विरोध कर रहे थे.

लेकिन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का कहना है कि छात्र रामनवमी की पूजा कर रहे थे जिस पर वामपंथी छात्रों ने हमला किया.

 

उधर वामपंथी छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आईसा) की तरफ़ से एक ट्वीट में दावा किया गया कि एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने हमला किया जिसमें कई छात्र घायल हुए हैं. छात्रों के बीच हुई झड़पों के बाद पुलिस भी पहुंच गई. छात्र संगठनों ने बताया है कि उन्होंने पुलिस से शिकायत की थी.

पुलिस ने एएनआई को ये भी बताया है कि एबीवीपी के छात्रों की ओर से भी ये सूचित किया गया है कि वे सोमवार सुबह शिकायत दर्ज करेंगे. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि शिकायतों के आधार पर ज़रूरी कार्रवाई की जाएगी.

इसे भी पढ़ें :Lohardaga Violence: बोले मंत्री बन्‍ना गुप्‍ता-भगवान श्रीराम सभी के आदर्श, उपद्रव के गुनाहगारों पर होगी कड़ी कार्रवाई

एबीवीपी ने ट्विटर किया वीडियो

वहीं एबीवीपी की तरफ़ से ट्विटर पर जानकारी दी गई है कि वामपंथी छात्र संगठन के हमले में उनके कार्यकर्ता रवि राज को गंभीर चोट लगी है.

 

जेएनयू में एबीवीपी से जुड़े रोहित ने बीबीसी को बताया, “वामपंथी और कम्यूनिस्ट विचारधारा के छात्रों ने एबीवीपी कार्यकर्ताओं और आम छात्रों पर हमला किया है.”

 

समाचार एजेंसी एएनआई ने दिल्ली पुलिस के हवाले से जानकारी दी है कि इस मामले में जेएनयू छात्रसंघ, एसएफ़आई, डीएसएफ़ और आइसा के छात्रों के समूह ने सोमवार सुबह एबीवीपी के अज्ञात छात्रों के ख़िलाफ़ शिकायत दी है. शिकायत के आधार पर दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 321,341, 509, 506 और 34 के तहत एफ़आईआर दर्ज की है.

अध्यक्ष आइशी घोष ने भी पोस्ट किया वीडियो

वहीं जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने ट्विटर पर वीडियो पोस्ट करते हुए दावा किया है कि एबीवीपी के छात्रों ने जेएनयू में रहने वाले छात्रों को मांसाहारी भोजन करने से रोकने की कोशिश की. उन्होंने दावा किया है कि एबीवीपी ने हॉस्टल के मेस सेक्रेट्री पर भी हमला किया है. आइशी घोष ने सवाल किया, “एबीवीपी के गुंडे हमें ये बताने वाले कौन हैं कि हम क्या खाएंगे और क्या नहीं खाएंगे?” उन्होंने ट्विटर पर सवाल पूछा, “जेएनयू के प्रशासन ने छात्रों के अधिकारों की सुरक्षा के लिए ज़रूरी इंतज़ाम क्यों नहीं किए?”

मधुरिमा नाम की एक छात्रा के मुताबिक रविवार के दिन हॉस्टल में छात्रों को मांसाहारी खाना मिलता है और छात्र ये तय कर सकते हैं कि उन्हें क्या खाना है और क्या नहीं मधुरिमा कहती हैं, “एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने हॉस्टल में मीट सप्लाई को रोक दिया और वहां के मेस सचिव से मारपीट की.” मधुरिमा के मुताबिक, “पहले एबीवीपी और छात्रों के बीच दोपहर में मारपीट हुई और फिर वो शाम को आठ बजे के क़रीब दोबारा आए और छात्रों को बुरी तरह मारा पीटा.” मधुरिमा ये दावा करती हैं कि इस हमले में उन्हें भी चोट आई है.

वहीं एबीवीपी से जुड़ी एक छात्रा दिव्या ने बयान जारी करके कहा है कि छात्र रामनवमी की पूजा कर रहे थे जिस पर वामपंथी छात्रों ने हमला किया. दिव्या ने दावा किया, “हम कावेरी हॉस्टल में रामनवमी की पूजा में गए थे. मैं आज उपवास पर थी. अचानक कुछ वामपंथियों ने हम पर हमला किया. मेरे हाथ में चोट आई है. मुझे पता भी नहीं है कि ये हमला क्यों हुआ है.”

इसे भी पढ़ें :पटना: सहायक जेल महानिरीक्षक रूपक कुमार के ठिकानों पर निगरानी की रेड

Related Articles

Back to top button