JharkhandLead NewsRanchi

ग्रामीणों की आस, मनरेगा से विकास अभियान शुरू, निगरानी के लिये फ्लाइंग स्क्वायड दल गठित

Ranchi: ग्रामीणों की आस,मनरेगा से विकास अभियान 15 दिसंबर तक चलेगा. विभागीय मंत्री आलमगीर आलम ने इसका शुभारंभ किया. मंत्री ने योजना की सफलता के लिए इसकी सतत निगरानी का निर्देश दिया है साथ ही काम में लापरवाही करने वाले बीपीओ, पंचायत सचिव इत्यादि पर कार्रवाई का भी आदेश दिया है. विभागीय मंत्री के निर्देश के बाद ग्रामीण विकास विभाग ने अभियान की गतिविधियों की सफलता के लिए एक फ्लाइंग स्क्वायड दल का गठन करने का फैसला लिया है, जिसका मुख्य कार्य संबंधित क्षेत्र का दौरा कर अभियान के क्रियान्वयन की स्थिति से समिति के अध्यक्ष को बताना होगा.

इसे भी पढ़ेंः शेयर बाजार ने रचा इतिहास, Sensex 60 हजार अंक के पार, Nifty 18 हजारी होने को बेताब

लगतार इस अभियान की मॉनटरिंग भी की जायेगी. विभागीय सचिव इसकी समय-समय पर समीक्षा करेंगे. ग्रामीण विकास विभाग ने राज्य स्तर से नियमित अनुश्रवण एवं मूल्यांकन के लिए उच्चस्तरीय समिति भी गठित की है. इसमें मनरेगा आयुक्त झारखंड, उप सचिव ग्रामीण विकास विभाग, सामाजिक अंकेक्षण इकाई के राज्य समन्वयक,उपनिदेशक कृषि, उद्यान, प्लानिंग सेल, मीडिया सह प्रशिक्षण पदाधिकारी,जेएसएलपीएस के प्रतिनिधि,गैर सरकारी संस्था के मनोनित पदाधिकारी को शामिल किया गया है.

advt

150 प्रखंडों में चलना है अभियान

ग्रामीण विकास विभाग ने 150 वैसे प्रखंडों का अभियान के लिए चयन किया है जिसका परफॉरमेंस खराब है. इन प्रखंडों के 2518 ग्राम पंचायतों में मनरेगा की योजनाएं अभियान से संचालित की जानी है. पुरानी योजनाएं को पूर्ण करने के साथ-साथ नयी योजना प्रारंभ की जायेगी. हर पंचायत में कम से कम पांच लाख मानवदिवस सृजन का लक्ष्य है. महिला,एसटी,एससी को 10 फीसदी अधिक रोजगार उपलब्ध कराया जाना है.

इसे भी पढ़ेंःमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को धमकी मामले में जांच के लिए सीआईडी ने इंटरपोल से मांगी मदद

adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: