न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इस गांव के लोग मिस्त्री को पैसा दे बनवाते हैं ट्रांसफॉर्मर, दूसरे दिन गुल हो जाती है बिजली

ग्रामीणों की मांग : विभाग या तो ट्रांसफॉर्मर ठीक कराये या नया लगाये

889

Dumka : दुमका सदर प्रखंड की सरवा पंचायत के धतिकबोना गांव में बिजली मिस्त्री को पैसा देने के बाद भी 20 दिन से लोग अंधेरे में रहने को मजबूर हैं.

ग्रामीणों ने बताया कि दो माह पहले नया ट्रांसफार्मर लगाया गया. तीन दिन तक ठीक काम करने के बाद खराबी आने लगी. विभाग का बिजली मिस्त्री जब भी बिजली बनाने गांव आता है तो तीन से चार सौ रुपये लेता है. इसके बाद भी हर दूसरे दिन बिजली चली जाती है.

इसे भी पढ़ें : पलामू: जेल जाने से बचने के लिए पारा शिक्षक ने किया था अपने अपहरण का नाटक 

20 दिन से बिजली नहीं, तंग आ गये हैं लोग

ग्रामीणों का कहना है कि वे लोग बार-बार बिजली मिस्त्री को पैसा देकर थक गये हैं. बीस दिन से बिजली नहीं है. अधिकारी सुनने के बाद भी ठीक नहीं करा रहे हैं. गांव में पहली बार बिजली आने से ग्रामीण काफी खुश थे लेकिन विभाग द्वारा खराब ट्रांसफॉर्मर विभाग के द्वारा लगाये जाने के कारण ग्रामीणों को दो महीने के बाद से ही उससे जूझना पड़ रहा है.

वहीं मीटर लगवाने के लिये भी ग्रामीणों ने ठेकेदार को प्रति कनेक्शन 700 रुपये दिये हैं. उसके बाद भी ग्रामीणों को कोई रसीद नही मिली.

SMILE

इसे भी पढ़ें : सड़क पर 10-10 रुपये के नोट गिरा कर ठेकेदार के 4 लाख रुपये ले उड़े चोर

… तो सड़क पर उतरेंगे ग्रामीण

ग्रामीणों का कहना है अगर सात दिन के अंदर विभाग की ओर से किसी तरह की पहल नहीं की गयी तो विवश होकर सड़क पर उतरना होगा.

गांव में बिजली की समस्या को लेकर ग्रामीणों की बैठक में शंकर मरांडी, सुनील मरांडी, प्रमोद मुर्मू, मार्शल मुर्मू, अनिल सोरेन, नन्दलाल सोरेन, गोविन्द सोरेन, बिटिया मरांडी, मकु हांसदा, सनोदी मुर्मू, मुनि हेंब्रम, प्रमिला सोरेन, लीलमुनी बेसरा व जूली हांसदा मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : मंत्री नीलकंठ मुंडा के विधानसभा क्षेत्र में ही दम तोड़ रहीं योजनाएं, 13.44 लाख का शौचालय घोटाला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: